Image Loading
गुरुवार, 26 मई, 2016 | 04:15 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने कोलकाता नाइट राइडर्स को 22 रनों से हराया
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 15 ओवर में चार विकेट खोकर 110 रन बनाए
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 10 ओवर में तीन विकेट खोकर 66 रन बनाए
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 5 ओवर में एक विकेट खोकर 43 रन बनाए
  • आयोध्या में बजरंग दल ट्रैनिंग कैम्प का आयोजक महेश मिश्रा गिरफ्तार: टीवी...
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर के सामने 163 रन का लक्ष्य रखा
  • आईपीएल 9: हैदराबाद ने 18 ओवर में पांच विकेट खोकर 143 रन बनाए
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने 14 ओवर में तीन विकेट खोकर 98 रन बनाए
  • आईपीएल 9: कुलदीप यादव ने लगातार गेंदों पर सनराइजर्स को दिए दो झटके
  • केरलः दलित छात्रा के साथ बलात्कार और उसकी हत्या की जांच के लिए एडीजीपी बी संध्या...
  • टाटा स्टील की ब्रिटेन इकाई के लिए हमने बोली लगाने वाले किसी का नाम नहीं छांटा है:...
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर के खिलाफ 5 ओवर में एक विकेट पर 31 रन बनाए
  • पटना में डॉक्टर से एक करोड़ की फिरौती की मांग, कंकरबाग पुलिस स्टेशन में मामला...
  • आईपीएल 9: केकेआर ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टॉस जीता, पहले फील्डिंग का फैसला
  • उभरते भारत और चीन को अपने साझा हितों का विस्तार करना चाहिए, जो पूरे विश्व के लिए...
  • बिहार में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिएः लोक जनशक्ति पार्टी
  • लोक जनशक्ति पार्टी ने अपने नेता सुरेश पासवान की हत्या की भर्त्सना की
  • दिल्ली-एनसीआर में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि
  • बिहार: LJP नेता सुदेश पासवान की डुमरिया में हत्या-ANI
  • पी विजयन ने केरल के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • राम जेठमलानी राजद की सीट से जाएंगे राज्य सभाः ANI

तालिबान का मसला

First Published:15-05-2012 10:21:04 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

अफगानिस्तान के साथ हमारे रिश्ते कई स्तरों पर हैं। इसलिए भी हमारी विदेश नीति के एजेंडे पर अमेरिकी हावी रहते हैं। दरअसल, पूरे अफगान मामले में कई ‘खिलाड़ी’ एक साथ शामिल हैं। इनकी राहें जुदा-जुदा हैं, पर चाल लगभग एक समान। गुजरे इतवार को ‘ट्री-पार्टी कमीशन’ की 35वीं बैठक हुई। इसमें अफगानिस्तान में नाटो फौज के कमांडर और पाकिस्तान व हिन्दुस्तान के आर्मी चीफ शामिल हुए। इस बार सरहद पर अमन-चैन को पुख्ता करने पर जोर डाला गया। साथ ही सलाला जैसी घटनाएं आईंदा न घटें, इसे लेकर एक व्यवस्था बनाने पर सहमति बनी। दोनों तरफ के नुमाइंदे इस बात को जानते-समझते हैं कि सरहदी इलाकों में आपसी तालमेल की सख्त जरूरत है, क्योंकि इन इलाकों में अक्सर जंग जैसा माहौल बना रहता है, जिससे दोनों ही तरफ गलतफहमियां पैदा होती हैं। बहरहाल, यह गुफ्तगू फौज-से-फौज की रही। वैसे, यह गुफ्तगू इस लिहाज से बिल्कुल अलग कही जा सकती है कि इसके कामकाज का तरीका कूटनीतिक नहीं, बल्कि उससे काफी अलग था। उसमें तो मैदान-ए-जंग की हकीकत पर तब बहस होती है, जब कोई गलती कर बैठता है। जैसे, पिछले साल नवंबर महीने में अमेरिकी फौज से गलती हुई थी। यही नहीं, कूटनीतिक नक्शे पर बहुत कुछ साफ-साफ नहीं दिखता। पल भर में जंग जैसा माहौल बन जाता है। सीनेटर डी. फेनस्टेन के बयानों से तो कम से कम यही लगता है। उन्होंने इतवार को कहा कि पाकिस्तान तालिबान के खात्मे के लिए जो कर रहा है, वह न केवल नाकाफी है, बल्कि ऐसा लगता है कि वह तालिबान के लिए ‘पनाहगाह’ बन गया है। फेनस्टेन के मुताबिक, अफगानिस्तान की एक-तिहाई जमीन पर तालिबान का कब्जा है। शायद इसमें हकीकत हो। लेकिन वह यह भी कहती हैं कि तालिबान को फौज के जरिये हराया जा सकता है। यह मुमकिन नहीं लगता। उन्होंने कहा कि ‘दोनों मुल्कों में तालिबान के खात्मे की चाबी’ पाकिस्तान के पास है। जाहिर है, वह सही कह रही हैं। लेकिन जब वह कहती हैं कि ‘महफूज पनाहगाह को खत्म’ करने के लिए पाकिस्तान कुछ नहीं कर रहा है, तो यह एक सरासर झूठ है।
द न्यूज, पाकिस्तान

 
 
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
हैदराबाद ने कोलकाता को किया एलिमिनेटहैदराबाद ने कोलकाता को किया एलिमिनेट
सनराइजर्स हैदराबाद ने दो बार के पूर्व चैंपियन कोलकाता नाइटराइडर्स को बुधवार को यहां फिरोजशाह कोटला मैदान में 22 रन से हराकर आईपीएल-9 से एलिमिनेट कर दिया।