Image Loading
रविवार, 29 मई, 2016 | 05:34 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • भ्रष्टाचार दीमक की तरह है, सपने को चूर चूर करने की ताकत भ्रष्टाचार में: पीएम मोदी
  • बिना कारण देश को निराशा के गर्त में धकेलना दुर्भाग्यपूर्ण: पीएम मोदी
  • लोकतंत्र में विरोध स्वाभाविक है, एक तरफ विकासवाद है तो दूसरी तरफ विरोधवाद है:...
  • मोदी सरकार के दो साल: 'नई सुबह' कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी, चुनी हुई सरकार का...
  • केजरीवाल और पीएम मोदी लोगों को बेवकूफ बना रहे हैं: राहुल गांधी
  • आप विधायक वंदना ने विधानसभा उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, निगम उपचुनाव में हार...
  • दिल्ली में राहुल गांधी की अगुवाई में बिजली और पानी को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन
  • उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत का दावा, जल्द ही सामने आएगी सीडी, भाजपा नेताओं का भी...
  • मोदी सरकार के दो साल: 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' पर बोले अमिताभ, जहां नारी की पूजा होती...
  • मोदी सरकार के दो साल पर बोले केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, विकास की कोशिश लगातार...
  • उत्तराखंड: टिहरी जिले के घनसाली में बादल फटा, गैंगर गांव के घरों, दुकानों में...
  • वी नारायणसामी पुडुचेरी में कांग्रेस विधायक दल के नेता निर्वाचित, मुख्यमंत्री...
  • बिहार बोर्ड इंटर आर्ट्स का रिजल्ट मार्कशीट के साथ जानने के लिए बने रहें livehindustan.com...
  • बिहार बोर्ड इंटर आर्ट्स का रिजल्ट सबसे पहले हमारे पास, क्लिक कर देखें रिजल्ट
  • कांग्रेस पी चिदंबरम, ऑस्कर फर्नांडिस, जयराम रमेश, अंबिका सोनी, विवेक तन्खा, कपिल...
  • बिहार बोर्ड का रिजल्ट आया, आप भी देखें अपना रिजल्ट यहां click कर
  • बिहार बोर्ड इंटर आर्ट्स का रिजल्ट आया। सिर्फ 56.40 % रहा परिणाम। पिछली साल के...
  • CBSE 10वीं रिजल्ट: CGPA से ऐसे निकालें अपना पर्सेन्टज....Click Here
  • CBSE Class X results: 96.36 प्रतिशत लड़कियां पास हुईं जबकि 96.11 प्रतिशत लड़के पास हुए हैं।
  • भाजपा झूठा जश्‍न मना रही है, इस सरकार ने कोई नए रोजगार नहीं दिएः चिदंबरम
  • पी चिदंबरम ने मोदी सरकार की योजनाओं पर उठाए सवाल, बोले- दो साल में देश का बुरा हाल

खेल मंत्रालय ने एएफआई को नोटिस भेजा

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:10-12-2012 09:29:40 PMLast Updated:10-12-2012 09:50:35 PM
खेल मंत्रालय ने एएफआई को नोटिस भेजा

खेल मंत्रालय ने दो महासंघों की मान्यता रद्द करने के तीन दिन बाद भारतीय एथलेटिक महासंघ (एएफआई) को अपने संविधान से कुछ विवादास्पद अनुच्छेद हटाने और अध्यक्ष तथा सचिव पद के लिए दोबारा चुनाव कराने के लिए नोटिस जारी किया।

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) को निलंबित करने के बाद राष्ट्रीय खेल महासंघों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए खेल मंत्रालय ने एएफआई को पत्र लिखकर उसका ध्यान उसके अनुच्छेदों पर दिलाया और साथ ही इनमें सुधार नहीं होने की स्थिति में कार्रवाई करने की चेतावनी दी।

इससे ऐसी अटकलें भी शुरू हो गयी हैं कि भारतीय अमेच्योर मुक्केबाजी महासंघ (आईएबीएफ) और भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के बाद एएफआई की मान्यता रद्द हो सकती है। खेल सचिव प्रदीप देब ने कहा कि मंत्रलय ने एएफआई को कुछ प्रतिबंधित अनुच्छेदों को हटाने और साथ ही केवल अध्यक्ष और सचिव पद के लिये दोबारा चुनाव कराने की सलाह दी। देब ने कहा कि अभी तक मान्यता रद्द नहीं की गई है।

देब ने कहा कि एएफआई के संविधान में एक अनुच्छेद है जिसमें अध्यक्ष और सचिव के पद के लिए टकराव है। इसलिए हमने एएफआई को इस प्रतिबंधित अनुच्छेद को हटाने और केवल इन दो पदों के लिए चुनाव कराने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि यह मान लेना गलत होगा कि खेल मंत्रालय महासंघों को निलंबित करने की होड़ में है।

देब ने कहा कि सिर्फ इसलिए कि हमने आईएबीएफ और एएआई की मान्यता रद्द कर दी है, यह सोचना ठीक नहीं है कि हम महासंघों को निलंबित करने लिये ही यहां हैं। हमने केवल कुछ सिफारिशें की हैं। खेल मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी यह कहा कि अभी तक एएफआई पर कोई प्रतिबंध नहीं लगा है। सिंह ने कहा कि अभी तक एएफआई पर कोई प्रतिबंध नहीं लगा है। हम सभी महासंघों को देख रहे हैं, जो खेल संहिता का पालन नहीं कर रही हैं। यह प्रक्रिया चल रही है। जो इस खेल संहिता का पालन नहीं कर, उन पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
कोहली की चुनौती के लिए तैयार है सनराइजर्स का सबसे सफल गेंदबाजकोहली की चुनौती के लिए तैयार है सनराइजर्स का सबसे सफल गेंदबाज
सनराइजर्स हैदराबाद के शुक्रवार को दूसरे क्वालीफायर में गुजरात लायंस पर चार विकेट की जीत के साथ फाइनल में जगह बनाने के बाद तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि उनकी टीम खिताबी मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं।