Image Loading पहले एसएमएस के प्रेषक 20 साल बाद भी अचंभित हैं - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 29 अप्रैल, 2016 | 09:32 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, तलाशी...
  • बरेलीः किला छावनी मोहल्ले के एक मकान में आग लगी, 6 बच्चे जिंदा जले
  • मुंबई ने केकेआर को हराया, पूरी खबर के लिए क्लिक करें
  • इस देश के सरकारी कर्मचारियों करेंगे हफ्ते में सिर्फ दो दिन काम, क्लिक करें और...
  • वीडियो: मैडम तुसाद में दिग्गज नेताओं की जमात में शामिल हुए पीएम, पढ़ें पूरी खबर
  • जॉब अलर्ट: ओरिएंटल बैंक को चाहिए 117 स्पेशलिस्ट ऑफिसर, करें आवेदन

पहले एसएमएस के प्रेषक 20 साल बाद भी अचंभित हैं

लंदन, एजेंसी First Published:03-12-2012 11:30:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
पहले एसएमएस के प्रेषक 20 साल बाद भी अचंभित हैं

बीस साल पहले विश्व का पहला टेक्स्ट मेसेज (एसएमएस) भेजने वाले ब्रिटिश सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने कहा कि वह इस बात से चकित हैं कि किस तरह यह प्रौद्योगिकी यहां तक विकसित हो गई। इंजीनियर नील पापवर्थ को संयोगवश मैरी क्रिसमस संदेश ब्रिटिश दूरसंचार कंपनी वोडाफोन के निदेशक को भेजने के लिए चुना गया था। नील ने संबंधित साफ्टवेयर विकसित करने पर काम किया था।

नील ने कहा कि दरअसल वोडाफोन पेजिंग में सुधार के लिए एक प्रौद्योगिकी विकसित करना चाहती थी और तब किसी को यह अहसास नहीं था कि यह दूरसंचार संस्कति को कैसे हमेश हमेशा के लिए बदल देगा। ब्रिटेन में पिछले ही साल 150 अरब टेक्स्ट संदेश भेजे गए।

उन्होंने बीबीसी से कहा कि उन दिनों उन्होंने सोचा कि यह एक्जक्यूटीव पेजर की तरह इस्तेमाल होगा। तीन दिसंबर, 1992 को वह 22 साल के थे और दक्षिण पूर्व इंग्लैंड के न्यूबरी में वोडाफोन के दफ्तर में एसएमएस पर काम कर रहे थे। उन दिनों मोबाइल फोन कीबोर्ड नहीं था अतएव उन्होंने कंप्यूटर कीबोर्ड पर संदेश टाइप किया।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
रोहित और पोलार्ड के अर्धशतक से मुंबई ने केकेआर को हरायारोहित और पोलार्ड के अर्धशतक से मुंबई ने केकेआर को हराया
कप्तान रोहित शर्मा और कीरोन पोलार्ड के अर्धशतकों और दोनों के बीच तूफानी साझेदारी से मुंबई इंडियन्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाइट राइडर्स को छह विकेट से हरा दिया।