Image Loading
बुधवार, 25 मई, 2016 | 16:37 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • पी विजयन ने केरल के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • राम जेठमलानी राजद की सीट से जाएंगे राज्य सभाः ANI
  • यूपी: अमर सिंह समेत राज्यसभा के लिए 7 सपा उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन- टीवी...
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट जारी: इंटर में हल्द्वानी की प्रियंका और हाईस्कल में...
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड: सुपारी किलर रोहित ने की थी...

एक जैसी नहीं है पृथ्वी और सूर्य की संरचना

वाशिंगटन, एजेंसी First Published:30-03-2012 04:42:01 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
एक जैसी नहीं है पृथ्वी और सूर्य की संरचना

कई दशकों पहले की धारणा को झुठलाते हुए वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि पृथ्वी और सूर्य की रासायनिक संरचना में बहुत फर्क है।
   
खगोल वैज्ञानिकों का मानना था कि पथ्वी की संरचना भी सूर्य की ही तरह है। यह इस धारणा पर आधारित था कि सौरमंडल में सभी वस्तुओं की संरचना एक जैसे रासायनिक तत्वों से हुई है। पर अब एक अंतर्राष्ट्रीय शोध दल ने इस धारणा को झुठला दिया है।
  
वैज्ञानिकों के लिये उल्का पिंडों की संरचना का अध्ययन करना बहुत आसान था। इसी तरह उन्होंने सूर्य और पृथ्वी की संरचना का भी अध्ययन कर लिया। शोध से उन्हें पता लगा है कि पृथ्वी और सूर्य की रासायनिक संरचना में बहुत फर्क है।
   
शोध दल का नेतृत्व करने वाले ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी के प्रो-इयान कैंपबेल का कहना है कि उन्होंने पृथ्वी के गर्भ से निकली एक चट्टान का 20 सालों तक अध्ययन किया। इसके अध्ययन से उन्होंने पाया कि पृथ्वी की संरचना भीतर से वैसी नहीं है जैसी कि समझी जाती है।
   
दल के दूसरे सदस्य हुग ओ नील ने कहा कि यह माना जाता है कि पृथ्वी का निर्माण विभिन्न ग्रहों के आपस में टकराने से हुआ है। दल के इन निष्कर्षों को नेचर जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
VIDEO: विराट ने दिया VIDEO: विराट ने दिया 'What's wrong with you?' का 'मुंहतोड़' जवाब
इंडियन प्रीमियर लीग के 9वें सीजन में विराट कोहली की फॉर्म शुरू से ही चर्चा का विषय बनी हुई है। इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के कप्तान कोहली अभी तक चार सेंचुरी जड़ चुके हैं, 900 से ज्यादा रन बना चुके हैं और अपनी टीम को फाइनल तक पहुंचा चुके हैं।