Image Loading 'टीम को तेंदुलकर की पहले से ज्यादा जरूरत' - LiveHindustan.com
रविवार, 14 फरवरी, 2016 | 07:13 | IST
 |  Image Loading
खास खबरें

'टीम को तेंदुलकर की पहले से ज्यादा जरूरत'

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:28-11-2012 02:06:56 PMLast Updated:28-11-2012 02:15:31 PM
'टीम को तेंदुलकर की पहले से ज्यादा जरूरत'

लगातार खराब प्रदर्शन के कारण सचिन तेंदुलकर की आलोचनाओं का दौर भले ही तेजी से बढ़ रहा हो लेकिन भारतीय टीम के उनके पूर्व साथी राहुल द्रविड़ को लगता है कि टीम को सीनियर बल्लेबाज की अब ज्यादा जरूरत है।
    
इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा चार टेस्ट मैचों की सीरीज में तेंदुलकर का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है जो 1-1 से बराबर चल रही है।
    
द्रविड़ ने ईएसपीएन क्रिकइंफो से कहा कि भारतीय टीम को तेंदुलकर की पहले से ज्यादा अब जरूरत है। 1-1 से बराबरी की सीरीज में सीनियर खिलाड़ियों का टीम में बने रहना बहुत महत्वपूर्ण है और ऐसा करने में सचिन से बेहतर कौन हो सकता है।
    
तेंदुलकर के खराब फॉर्म ने टीम में उनके स्थान पर सवालिया निशान लगा दिये हैं और पूर्व खिलाड़ी जैसे सुनील गावस्कर ने सलाह दे डाली कि तेंदुलकर को भविष्य की योजनाओं के बारे में चयनकर्ताओं से बात करनी चाहिए लेकिन द्रविड़ को लगता है कि इस 39 वर्षीय क्रिकेटर की टीम में काफी जरूरत है।
    
द्रविड़ ने कहा कि मैं समझता हूं कि वह अच्छा नहीं खेल सका था और न्यूजीलैंड के खिलाफ थोड़ा तैयार नहीं दिख रहा था। यहां, मैं जानता हूं कि उनकी तीन असफलताओं के बाद यह थोड़ा हैरत भरा लगेगा, लेकिन वह सचमुच अच्छा दिख रहा है।

द्रविड़ ने कहा कि अहमदाबाद में उसने जो शॉट खेले, उससे वह निराश होगा और इसके बाद ऐसी सपाट पिच पर अन्य खिलाड़ियों को रन बनाते देखना भी निराशाजनक होगा।
    
उन्होंने कहा कि यहां, वह थोड़ा दुर्भाग्यशाली भी रहा। वह सुबह जिस पहली गेंद पर वह आउट हुआ, वह सचमुच काफी स्पिन कर रही थी। इसके बाद ज्यादा गेंदें स्पिन नहीं कर रही थीं। दूसरी पारी में भी वह स्पिन गेंद पर खेला।
    
द्रविड़ ने कहा कि मुंबई में मिली करारी शिकस्त भारत के लिये फायदेमंद भी साबित हो सकती है क्योंकि इससे खिलाड़ी ज्यादा मेहनत करेंगे। उन्होंने कहा कि कप्तान महेंद्र सिंह धौनी को पांच दिसंबर से कोलकाता में शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट से पहले अपने गेंदबाजी विकल्पों के बारे में विचार करना होगा।
    
द्रविड़ ने कहा कि उसे अपने संयोजन पर दोबारा विचार करना होगा क्योंकि तीन स्पिनरों को खिलाना बहुत मुश्किल है और विशेषकर जब आपकी टीम में युवराज सिंह और वीरेंद्र सहवाग भी शामिल हो जो स्पिन गेंदबाजी कर सकते हैं।
    
उन्होंने कहा कि अहमदाबाद में संयोजन अच्छा था, जिसमें टीम में दो तेज गेंदबाज और दो स्पिनर थे। उम्मीद है कि कोलकाता में सामान्य विकेट होगा। द्रविड़ ने कहा कि कोलकाता में भारत का रिकॉर्ड अच्छा है, हमें यहां काफी सफलतायें मिली हैं क्योंकि यह ठेठ रूप से उप महाद्वीपिय विकेट है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
कैसा रहा साल 2015
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड