Image Loading
सोमवार, 27 मार्च, 2017 | 08:21 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का विशेष लेख- पिछड़ता...
  • पंजाब: गुरदासपुर में BSF जवानों ने पहाड़ीपुर पोस्ट के पास एक पाकिस्तानी...
  • हेल्थ टिप्स: सीढ़ी चढ़ने से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा, क्लिक कर पढ़ें
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और लखनऊ में होगी तेज धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों के आय में वृद्धि होगी, अन्य राशियों का हाल जानने के...
  • सक्सेस मंत्र: अवसर जरूर द्वार खटखटाते हैं, बस पहचानना आना चाहिए, क्लिक कर पढ़ें
  • टॉप 10 न्यूज: कश्मीर में आतंक-PDP मंत्री के घर पर हमला, दो पुलिसकर्मी हुए घायल, अन्य...

TMC सांसदों ने FDI पर बैठक का किया बहिष्कार

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-12-2012 02:32:19 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
TMC सांसदों ने FDI पर बैठक का किया बहिष्कार

बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मुद्दे पर लोकसभा में बुधवार को होने वाले मतदान में शामिल होने के बारे में संशय बनाए रखते हुए आंध्र प्रदेश में तेलंगाना क्षेत्र के आठ कांग्रेस सांसदों ने मंगलवार को पार्टी नेताओं द्वारा बुलाई गई एक बैठक का बहिष्कार किया।

पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की मांग पर कोई फैसला न करने को लेकर कांग्रेस और संप्रग सरकार का खुलेआम विरोध कर रहे इन सांसदों ने बुधवार को मतदान से अलग रहने के सवाल को भी खुला रखा और कहा कि इस बारे में फैसला बुधवार को ही किया जाएगा।

केन्द्रीय गृह मंत्री और सदन के नेता सुशील कुमार शिंदे और संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने यह बैठक सरकार के पक्ष में मतदान का उनसे आश्वासन हासिल करने के उद्देश्य से बुलाई थी। हालांकि, सिर्फ दो केन्द्रीय मंत्रियों एस जयपाल रेड्डी और सर्व सत्यनारायण और बलराम नायक ने मंगलवार सुबह हुई इस बैठक में हिस्सा लिया।

करीमनगर से पार्टी सांसद पी प्रभाकर ने कहा कि हमने बैठक का बहिष्कार किया। हम जाना नहीं चाहते थे। प्रभाकर के सहयोगी और निजामाबाद से संसद मधु गौड़ याक्षी ने भी इसी तरह की बात की और कहा कि उन्होंने पार्टी नेताओं द्वारा बुलाई गई बैठक का एक मत से बहिष्कार करने का निर्णय किया था।

प्रभाकर ने सोमवार को यह संकेत दिया था कि पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की घोषणा को लेकर केन्द्र द्वारा किए जा रहे विलंब के विरोध में वे एफडीआई पर मतदान से अलग रह सकते हैं। इसके बाद ही पार्टी नेताओं ने मंगलवार को यह बैठक बुलाई थी।

यह पूछे जाने पर कि क्या वे मंगलवार को चर्चा में और बुधवार को मतदान में हिस्सा लेंगे, दो सांसदों ने कहा कि यह बुधवार को तय किया जाएगा। कांग्रेस पहले ही तीन लाइन का व्हिप जारी कर चुकी है, जिसमें पार्टी सांसदों ने सदन में उपस्तित रहने और सरकार के पक्ष में मतदान करने को कहा गया है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड