Image Loading सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने पूछा, क्या वे पकड़े गए - LiveHindustan.com
बुधवार, 04 मई, 2016 | 15:18 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • बरेली में मेडिकल के छात्र का अपहरण, बदमाशो ने घर वालो से मांगी 1 करोड़ की फिरौती
  • राज्य सभा की अनुशासन समिति ने विजय माल्या की सदस्यता तत्काल खत्म करने की...
  • उत्तराखंड मामलाः केंद्र ने SC में कहा, बहुमत परीक्षण पर कर रहे विचार, शुक्रवार को...

सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने पूछा, क्या वे पकड़े गए

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:20-12-2012 09:21:47 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने पूछा, क्या वे पकड़े गए

राजधानी दिल्ली में रविवार की रात चलती बस में सामूहिक बलात्कार एवं वीभत्स हमले का शिकार बनी एक 23 वर्षीय पैरा-मेडिकल छात्रा ने गुरुवार को अस्पताल में मिलने आए परिवार के सदस्यों से पूछा, क्या वे पकड़े गए।

सूत्रों ने बताया कि मुंह में ट्यूब लगे होने के कारण बोल पाने में अक्षम यह छात्रा कागज पर लिख कर अपनी बात कह रही है। उन्होंने बताया कि इस छात्रा को पता है कि उसका मामला मीडिया में आ चुका है। उसने अपने परिवार से पूछा कि क्या आरोपी पकड़े गए हैं।

ऐसी जानकारी मिली है कि छात्रा का परिवार मीडिया का आभारी है, लेकिन अपनी पहचान को सार्वजनिक नहीं होने देना चाहता है। इस छात्रा ने कल अपनी मां से कहा था, मैं जीना चाहती हूं।

इससे पहले छात्रा का इलाज कर रहे सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि वह अब स्थिर, चौकस और होश में है। चिकित्सकों को उसके पेट का ऑपरेशन कर उसकी छोटी आंत निकालनी पड़ी जो बिल्कुल क्षत विक्षत थी।

सफदरजंग अस्पताल के स्वास्थ्य अधीक्षक डॉ़ बी डी अथानी ने बताया कि एलेक्टिव एक्सप्लोरेटरी लैपराटोमी के बाद की रात शांत रही। सुबह में उसकी हालत स्थिर थी। वह अब भी आईसीयू में जीवनरक्षक प्रणाली पर है। उसके रक्तचाप, पेशाब, सांस लेने की गति जैसे महत्वपूर्ण मानदंड स्वीकार्य दायरे के भीतर हैं ।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
अश्विन ने बताया क्यों हार रही है धौनी की टीम पुणे सुपरजाइंट्सअश्विन ने बताया क्यों हार रही है धौनी की टीम पुणे सुपरजाइंट्स
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 9वें सीजन में नई टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की हालत बहुत खस्ता रही है। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली इस टीम ने आठ में से महज दो मैच ही जीते हैं।