Image Loading
गुरुवार, 29 सितम्बर, 2016 | 01:59 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पाकिस्तानी कलाकारों फवाद, माहिरा और अली जफर के भारत छोड़ने पर बॉलीवुड सितारों...
  • टीम इंडिया में गंभीर की वापसी, भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट के टिकट होंगे सस्ते। इसके...
  • भविष्यफल: तुला राशि वालों को आज परिवार का भरपूर सहयोग मिलेगा, मन प्रसन्न रहेगा।...
  • हिन्दुस्तान सुविचार: जीवन के बुरे हादसे या असफलताओं को वरदान में बदलने की ताकत...
  • सार्क में हिस्सा नहीं लेंगे पीएम मोदी, गंभीर की दो साल बाद टीम इंडिया में वापसी,...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

किंगफिशर की उड़ान परिमट अवधि समाप्त हुई

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:31-12-2012 10:58:56 PMLast Updated:31-12-2012 11:39:40 PM
किंगफिशर की उड़ान परिमट अवधि समाप्त हुई

वित्तीय संकट में बुरी तरह फंसी निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस के उड्डयन लाइसेंस की वैधता अवधि सोमवार को खत्म हो गई। संचालन फिर से शुरू कर पाने की कोई उम्मीद नहीं दिखने के कारण कंपनी के शेयरों में सोमवार को गिरावट दर्ज की गई।

बताया गया कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने कंपनी से यह जानकारी मांगी थी कि उड़ानों का संचालन फिर से शुरू करने की योजना के लिए धन की व्यवस्था कैसे होगी। लाइसेंस के नियमित नवीनीकरण की आखिरी तिथि 31 दिसंबर थी।

कंपनी ने पिछले सप्ताह महानिदेशालय के पास शिड्यूल्ड ऑपरेटर्स परमिट (एसओपी) के नवीनीकरण के लिए आवेदन किया था। विमानन कंपनी के कर्मचारियों द्वारा बकाए वेतन के भुगतान के लिए की गई हड़ताल के बाद एक अक्टूबर से कंपनी उड़ानों का संचालन नहीं कर पाई।

इसके बाद महानिदेशालय ने 20 अक्टूबर को कंपनी का परमिट निलंबित कर दिया था, क्योंकि कंपनी उड़ानों का संचालन शुरू कर पाने की भरोसेमंद योजना पेश नहीं कर पाई थी। नियमों के मुताबिक कंपनी के पास हालांकि दो सालों में लाइसेंस फिर से हासिल करने की मोहलत होगी। लेकिन इससे पहले उसे वित्तीय प्रबंधन की ठोस योजना लेकर सामने आना होगा।

उड़ानों का संचालन फिर से शुरू करने की योजना में कंपनी ने कहा था कि उसे एक साल में वेतन के भुगतान, संचालन तथा अन्य मदों पर खर्च के लिए 6.52 अरब रुपए की जरूरत होगी। कंपनी पर 7,524 करोड़ रुपये का भारी भरकम कर्ज है तथा उसे अब तक 8,000 करोड़ रुपए का घाटा हो चुका है।

कर्जदाताओं ने हाल में कंपनी के प्रमोटर विजय माल्या की बैंक गारंटी की मांग को ठुकरा दिया, जबकि विजय माल्या ने फरवरी तक कंपनी के शेयरों में 105 करोड़ रुपए का निवेश करने का वादा किया था। कंपनी ने अबूधाबी की विमानन कंपनी एतिहाद एयरवेज से निवेश हासिल करने की भी कोशिश की, लेकिन इस कोशिश में उसे अब तक सफलता नहीं मिली।

सोमवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज में कंपनी के शेयर 2.36 फीसदी गिरावट के साथ 14.92 रुपए पर बंद हुए। दिन भर के कारोबार में कंपनी के शेयरों ने 14.75 रुपये का निचला स्तर छुआ। पिछले कारोबारी सत्र में कंपनी के शेयर 15.28 रुपए पर बंद हुए थे।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड