class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर से पृथ्वी के सौरमंडल में होगा नवग्रह,प्लूटो को मिलेगा ग्रह का दर्जा

फिर से पृथ्वी के सौरमंडल में होगा नवग्रह,प्लूटो को मिलेगा ग्रह का दर्जा

1/2 फिर से पृथ्वी के सौरमंडल में होगा नवग्रह,प्लूटो को मिलेगा ग्रह का दर्जा

बर्फीले बौने खगोलीय पिंड प्लूटो को फिर से ग्रह का दर्जा मिल सकता है। वैज्ञानिकों के एक समूह ने कहा है कि प्लूटो को सौरमंडल के एक ग्रह के रूप में परिभाषित किया जाना चाहिए। उसे पृथ्वी और बृहष्पति के उपग्रहों समेत सौरमंडल के 100 से अधिक खगोलीय पिंडों के साथ ग्रह के रूप में रखा जाना चाहिए। इन वैज्ञानिकों का मानना है कि प्लूटो को गलत तरीके सौरमंडल की ग्रह-सूची से निकाला गया है। 

एक दशक पूर्व छिना दर्जा : 
प्लूटो को अर्से तक ग्रह माना गया। लेकिन साल 2006 में उसको ग्रहों की सूची से हटाकर ‘गैर-ग्रहीय’ पिंड का दर्जा दे दिया गया। इससे सौरमंडल के कुल ग्रहों की संख्या नौ से घटकर आठ रह गई। प्लूटो को गैर-ग्रह बताने वाली परिभाषा को इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (आईएयू) से स्वीकृति मिली थी। इसके बावजूद प्लूटो के दर्जे का मसला समाप्त नहीं हुआ। यह विज्ञानियों के बीच बहस का विषय बना रहा।   

नई परिभाषा की जरूरत : 
अमेरिका की जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक किर्बी रुन्यॉन ने कहा, प्लूटो से ग्रह का दर्जा छीन लेने का कोई मतलब नहीं है। प्लूटो की सतह पर वे सारी चीजें हो रही हैं जो किसी ग्रह पर होती हैं। उसके बारे में गैर-ग्रहीय कुछ नहीं है। शोधकर्ताओं ने प्लूटो को ग्रह के रूप में इस तरह परिभाषित करने पर जोर दिया है, जिसमें उसकी खुद की आंतरिक विशेषताओं की भूमिका हो। अभी तक उसको परिभाषित करने में उसकी कक्षा और उसके इर्दगिर्द की अन्य वस्तुओं पर ही ध्यान दिया गया है। 

ग्रह कहलाने की जरूरी शर्तें :
वैज्ञानिक उस उप-तारकीय द्रव्यमान वाले पिंड को ग्रह मानते हैं जिसमें कभी परमाणु संलयन नहीं हुआ हो। उसमें पर्याप्त गुरुत्वाकर्षण भी होना चाहिए जिससे उसका आकार मोट तौर पर गोल बना रहे। हालांकि उसका भूमध्य क्षेत्र, तीनतरफा बलों के दबाव के कारण उभरा हुआ हो सकता है। इस तीनतरफा बल में से एक तो खुद उसके गुरुत्वाकर्षण से बनता है, जबकि दूसरा उस तारे से, जिसका वह चक्कर लगाता है। तीसरा बल उसके करीबी किसी ग्रह का होता है। 

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pluto should regain its planet status