Image Loading
बुधवार, 25 मई, 2016 | 10:49 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • हैबतुल्ला अखुंदजादा अफगान तालिबान का नया सरगना बना
  • अफगान तालिबान ने अमेरिकी ड्रोन हमले में पूर्व नेता मुल्ला अख्तर मंसूर की मौत की...
  • उत्तराखंड: अल्मोड़ा में बस खाई में गिरी, 8 लोगों की मौत
  • उत्तराखंड बोर्ड: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट थोड़ी देर में। देखने के लिए...
  • तिरूवनंतपुरमः शपथ ग्रहण से पहले राज्यपाल पी सदाशिवम से मिले पिनरई विजयन
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 318 अंक चढ़कर 25,621 पर पंहुचा, निफ़्टी 7,855
  • चीन-भारत बिजनेस फोरम: दोनों देशों के बीच आर्थिक और व्यापारिक सहयोग की असीम...
  • गुआंगझोउः चीन-भारत बिजनेस फोरम में बोले राष्ट्रपति मुखर्जी, चीन की आर्थिक...
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट आज होगा घोषित, कैसे देखें नतीजे? जानने के लिए क्लिक...

सीमा पार पाक स्थित शिविरों में 2500 आतंकी

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-12-2012 06:57:36 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
सीमा पार पाक स्थित शिविरों में 2500 आतंकी

सरकार ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी ढांचा अभी भी मजबूती से टिका हुआ है और खबर है कि सीमा पार के विभिन्न शिविरों में लगभग 2500 आतंकवादी मौजूद हैं। गृह राज्य मंत्री मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने लोकसभा को बताया कि पाकिस्तान या पाक अधिकत कश्मीर में आतंकवादी ढांचा अभी भी है और सीमा पार से घुसपैठ के प्रयास भी जारी हैं, जो सुरक्षा बलों के लिए चुनौती है।

उन्होंने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि सीमा पार 42 आतंकवादी शिविर चल रहे हैं। इनमें से 25 पाक अधिकृत कश्मीर में और 17 अन्य पाकिस्तान में हैं और इन शिविरों में लगभग 2500 आतंकवादी हैं। रामचंद्रन ने कहा कि खुफिया खबरों से पता लगा है कि पाकिस्तान की खुफिया एवं सुरक्षा एजेंसियां भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि भारत-पाक सीमा विशेषकर जम्मू क्षेत्र में भारत-पाक सीमा पाकिस्तान की ओर से आतंकवादियों की घुसपैठ के लिहाज से सबसे अधिक संवेदनशील है। पाकिस्तानी रेंजरों और सेना के समर्थन से पाक स्थित आतंकवादी अकसर भारतीय क्षेत्रों में घुसपैठ की कोशिश करते हैं। रामचंद्रन ने कहा कि लगातार निगरानी और सतर्कता के कारण सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ के हर प्रयास को विफल कर देते हैं।

उन्होंने बताया कि इस साल घुसपैठ की 249 कोशिशें की गईं। पिछले साल 247, 2010 में 489, 2009 में 485, 2008 में 342 और 2007 में 535 बार घुसपैठ के प्रयास किए गए।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट