Image Loading
शनिवार, 30 जुलाई, 2016 | 12:48 | IST
खोजें
ब्रेकिंग
  • कश्मीर के नौगाम सैक्टर में मुठभेड़, दो जवान शहीद, एक घायल
  • आज का तापमान: दिल्ली में अधिकतम 31 डिग्री, देहरादून में 28, लखनऊ में 32, पटना में 33 और...

सबसे खुशनुमा नहीं होता शादी का पहला साल

मेलबर्न, एजेंसी First Published:03-12-2012 02:09:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
सबसे खुशनुमा नहीं होता शादी का पहला साल

हनीमून पीरियड को खुशहाल वैवाहिक जीवन की शुरुआत का प्रतीक मानने वाले लोगों के लिए एक बुरी खबर है कि नव विवाहित दंपत्ति अपने विवाह के पहले साल सबसे ज्यादा नाखुश रहते हैं। एक नए अध्ययन में यह बात कही गई है।

ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं के अनुसार सबसे खुशहाल दंपति वह होते हैं जिनकी शादी को 40 साल से ज्यादा समय पूरा हो गया हो। ऑस्ट्रेलिया के देकिन विश्वविद्यालय के इस अध्ययन में 2000 लोगों से विवाह को लेकर उनकी खुशी के बारे में पूछा गया। उनके जवाबों के आधार पर उन्हें 0-100 के बीच अंक दिए गए।

ज्यादातर लोगों को इसमें औसतन 75 अंक मिले और जिनकी नयी-नयी शादी हुई थी या जिनका शादी का यह पहला साल था उन्हें औसतन 73.9 अंक मिले जबकि वैसे दंपति जिनकी शादी को चार दशक से ज्यादा समय हो गया था, उन्हें औसतन 79.8 अंक मिले।

मुख्य अध्ययनकर्ता मेलिसा विनबर्ग ने कहा, यह थोड़ा अप्रत्याशित है क्योंकि आम धारणा यह है कि नवविवाहित जोड़े सबसे अधिक खुश रहते हैं जबकि असल में ऐसा नहीं है।

विनबर्ग ने कहा कि लोग कल्पना करते हैं कि उनकी शादी का दिन उनकी जिंदगी का सबसे खुशनुमा दिल होगा। वह दिन आता है, लोग बहुत खुश रहते हैं, लेकिन धीरे-धीरे यह खुशी कम होने लगती है।

एक अन्य अध्ययन में भी इस तथ्य का समर्थन किया गया है और कहा गया कि शादी के दूसरे या तीसरे साल दंपति की खुशी बढ़ने लगती है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि विवाहित लोग अवविवाहित, तलाकशुदा आदि लोगों से अधिक खुश रहते हैं। वहीं विवाहित महिलाएं विवाहित पुरुषों की तुलना में अधिक खुश रहती हैं।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
दूसरे टेस्ट से बाहर हुये मुरली विजय, के.एल राहुल टीम में शामिलदूसरे टेस्ट से बाहर हुये मुरली विजय, के.एल राहुल टीम में शामिल
कैरेबियाई दौरे में पहला टेस्ट जीतकर अपने अभियान की शानदार शुरुआत करने वाली टीम इंडिया को उस समय करारा झटका लगा जब टीम के स्टार ओपनर मुरली विजय चोट के कारण सीरीज के दूसरे मैच से बाहर हो गए।