Image Loading
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 17:01 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: दूसरे दिन का खेल खत्म, पहली पारी में भारत का स्कोर 146/1
  • INDvsENG: भारत 100 के पार, मुरली का अर्धशतक
  • दिल्लीः एक्सिस बैंक के चांदनी चौक ब्रांच में 8 नवंबर से अब तक अलग-अलग खातों में 450...
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...
  • नोटबंदी नीति की गोपनीयता पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब
  • नोटबंदी भारत का सबसे बड़ा घोटाला है, सरकार चर्चा से घबरा रही हैः राहुल गांधी
  • ये TIPS आजमाएंगे तो तुरंत दूर होगी एसिडिटी, जानें ये 5 जरूरी बातें

मनोबल की कड़ी परीक्षा होती है बिग बॉस में : सिद्धू

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-11-2012 12:29:14 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
मनोबल की कड़ी परीक्षा होती है बिग बॉस में : सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू ने क्रिकेट की पिच पर कई बार बाउंसर झेले हैं लेकिन बिग बॉस के घर को वह मनोबल की सबसे बड़ी परीक्षा मानते हैं और उनका कहना है कि यदि किसी व्यक्ति को परखना है तो उसे इस रियलटी शो में भेज देना चाहिए।

सिद्धू लगभग एक महीने से अधिक समय तक बिग बॉस के घर में रहे। इसके बाद वह भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज के लिये स्टार क्रिकेट पर चल रही हिन्दी कमेंट्री और गुजरात चुनावों को ध्यान में रखकर बाहर आ गये।

उन्होंने खास बातचीत में कहा कि मेरे लिये बिग बॉस बहुत बड़ा जोखिम था। वहां जाना काजल की कोठरी में जाने जैसा था जहां से अपनी चादर को किसी भी तरह की कालिख से बचाकर बाहर निकलना लगभग असंभव था। आपके पास घड़ी, फोन, इंटरनेट, परिवार, मनपसंद खाना कुछ नहीं होता। इसलिए बिग बॉस का घर मनोबल की सबसे कड़ी परीक्षा है।

सिद्धू ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को परखना है तो उसे बिग बॉस में भेज दो। उसका असली चरित्र दिख जाएगा।

अपनी बेटी राबिया की चुनौती पर इस रियलटी शो में भाग लेने वाले सिद्धू ने इस बात को नकार दिया कि बिग बॉस में बातें तोड़ मरोड़कर पेश की जाती हैं। उन्होंने कहा कि बिग बॉस मुखौटा नहीं यह खालिस असलियत है। यहां असली सूरत नहीं छिप सकती। चौबीस घंटों में आप भूल जाते हो कि आप पर कैमरा लगा हुआ है।

सिद्धू ने बिग बॉस के अपने अनुभवों के बारे में कहा कि निर्माताओं को विश्वास था कि वह भी अन्य भागीदारों की तरह कोई गलती करेंगे लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। उन्होंने कहा कि मुझे निर्माताओं ने बताया कि पहले छह साल इस कार्यक्रम में गालियां काफी दी जाती थी लेकिन मैंने उसे पारिवारिक कार्यक्रम बना दिया।

पहले वह 11 बजे आता था लेकिन अब उसे नौ बजे दिखाया जाता है। उन लोगों को आशंका थी कि मेरा सब्र भी टूट जाएगा लेकिन आखिर में उन्होंने स्वीकार किया कि मैंने उन पर दबाव बना दिया था।

पिछले साल भी चर्चा थी कि सिद्धू बिग बॉस में जाएंगे लेकिन उन्होंने इस साल इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने का फैसला किया। इस पूर्व टेस्ट क्रिकेटर ने खुलासा किया कि उनकी बेटी राबिया की चुनौती स्वीकार करते हुए वह इस रियेल्टी शो में पहुंचे थे।

उन्होंने कहा कि मेरी बेटी कहती है कि मेरे पिता बहुत मजबूत इंसान हैं लेकिन मैं नहीं चाहती कि वह बिग बॉस में जाएं क्योंकि हो सकता है कि वह भी कभी न कभी गलती कर बैठें। इसलिए मेरे लिये यह चुनौती थी। मेरे लिये यह बल्लेबाजी करने से भी बड़ी अग्निपरीक्षा थी और मुझे खुशी है कि मैं इसमें सफल रहा।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड