Image Loading
बुधवार, 01 जून, 2016 | 11:04 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • बिना सब्सिडी वाला गैस सिलेंडर आज से 21 रुपये महंगा, हवाई सफर भी महंगा
  • महाराष्ट्रः पुलगांव आयुध डिपो में भीषण आग की चपेट में आने से मरने वालों की...
  • रितेश देशमुख फिर बने पापा, जेनेलिया ने दिया बेटे को जन्म
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 65 अंक चढ़कर 26,733 पर खुला, निफ़्टी 8182
  • रेल, हवाई सफर, रेस्टोरेंट में खाना, मोबाइल, बैंकिंग आज से महंगा
  • मौसम अपडेटः आज का अधिकतम तापमान- दिल्ली 41 डिग्री, देहरादून 36 डिग्री, लखनऊ 40 डिग्री,...

कभी कमल को केशुभाई व मोदी ने मिलकर खिलाया था

गांधीनगर, एजेंसी First Published:20-12-2012 03:26:19 PMLast Updated:20-12-2012 08:43:10 PM
कभी कमल को केशुभाई व मोदी ने मिलकर खिलाया था

लगातार तीसरी बार जीत का परचम लहराकर नरेंद्र मोदी ने बेशक गुजरात के सबसे कद्दावर नेता के रूप में खुद को स्थापित किया है, लेकिन एक दौर था जब केशुभाई पटेल और शंकर सिंह बाघेला के साथ मिलकर इस त्रिमूर्ति ने राज्य में भाजपा की नीव रखी थी और पार्टी संगठन को एक मजबूत आधार दिया था।
 
केशुभाई पटेल राज्य के गुजरात में भाजपा के प्रथम मुख्यमंत्री रहे हैं लेकिन अब वह इस पार्टी में नहीं है। कभी राज्य भाजपा की त्रिमूर्ति में से एक पटेल ने अब 84 साल की उम्र में अपनी नई पार्टी गुजरात परितर्वन पार्टी बना ली है। इस त्रिमूर्ति के दो अन्य नेताओं में मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी और शंकर सिंह वाघेला शामिल हैं। इन्ही तीन नेताओं ने गुजरात में भाजपा की नीव रखी थी।

कालेज के दिनों में मोदी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ [आरएसएस] के सक्रिय कार्यकर्ता थे। गुजरात में भाजपा की नींव डालने में मोदी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। शंकरसिंह बाघेला और केशुभाई पटेल के साथ-साथ मोदी ने भी राज्य में भाजपा को गांव-गांव तक पहुंचाया। वाघेला और मोदी एक दूसरे के पूरक माने जाते थे। वाघेला एक जननेता के रूप में जाने जाते थे, जबकि मोदी पर्दे के पीछे संगठन का काम करते थे। किन्तु पटेल की तरह वाघेला भी अब भाजपा में नहीं है।

पटेल को पार्टी ने 2001 में मुख्यमंत्री पद से हटाया था। वह आज मोदी के कट्टर विरोधी है। पिछले 10 वर्ष तक मौन रहे पटेल ने इस बार चुनाव से पूर्व अपना नया दल बनाकर 182 विधानसभा सीटों में से 175 में अपने प्रत्याशी खडे़ किए। वह राज्य की प्रभावशाली पटेल जाति के नेता है। पटेल ने स्वयं इस बार बिसाबदर विधानसभा सीट से चुनाव लडा़।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
PAK के हिंदू क्रिकेटर कनेरिया अचानक परिवार के साथ पहुंचे भारत और...PAK के हिंदू क्रिकेटर कनेरिया अचानक परिवार के साथ पहुंचे भारत और...
पाकिस्तान के प्रतिबंधित लेग स्पिनर और हिंदू क्रिकेटर दानिश कनेरिया अचानक अपने परिवार के साथ भारत दौरे पर पहुंचे हैं। इस दौरे से हर को दंग रह गया लेकिन उनके भाई का कहना है कि वो धार्मिक कार्यों के लिए भारत गए हैं।