Image Loading
रविवार, 04 दिसम्बर, 2016 | 03:18 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • 13000 करोड़ की सम्पति का खुलासा करने वाले गुजरात के कारोबारी महेश शाह को हिरासत में...
  • HT समिट: नोटबंदी पर पीएम मोदी ने जितनी हिम्मत दिखाई उतनी हिम्मत शराबबंदी में भी...

विधेयक का विरोध करते रहेंगे: मुलायम

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:19-12-2012 05:12:02 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

लोकसभा में बुधवार को सरकारी नौकरियों में पदोन्नति में आरक्षण संबंधी विधेयक को सदन में चर्चा के लिए रखे जाते समय घटे अप्रत्याशित घटना पर सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने साफ किया कि उनकी पार्टी विधेयक का विरोध जारी रखेगी और जरूरत पड़ी तो संप्रग से समर्थन वापस लेने के बारे में भी विचार किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री वी नारायणसामी के हाथ से विधेयक छीने जाने के बाद सपा के यशवीर सिंह के साथ कांग्रेस के सदस्यों की कथित हाथापाई की घटना को निन्दनीय बताते हुए मुलायम ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सपा इस संविधान संशोधन विधेयक का लगातार विरोध करती रही है और करती रहेगी। इसके लिए वह गंभीर से गंभीर परिणाम भी भुगतने को तैयार है।

उन्होंने अपनी पार्टी के सांसद यशवीर को कांग्रेस के सदस्यों द्वारा अपमानित किये जाने और मारपीट करने का आरोप लगाते हुए कहा कि संसद में विधेयक का मसौदा छीने जाने की यह पहली घटना नहीं है। तीन बार तो हमने ऐसा होते देखा है।

यादव से जब कांग्रेस द्वारा इस मामले में लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार से सपा सदस्यों की शिकायत किये जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके हाथ में सरकार है। बहुमत है। वे जो चाहें मनमानी कर सकते हैं। लेकिन असली ताकत जनता के पास है।

सपा अध्यक्ष से जब संवाददाताओं ने पूछा कि उनकी पार्टी के बाहरी सहयोग के कारण भी संप्रग बहुमत में है तो क्या वह इस घटना के बाद समर्थन वापसी के बारे में सोचेंगे तो उन्होंने केवल इतना कहा कि उस पर भी विचार कर लेंगे। उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम के पहले से तय होने के बसपा के आरोप को खारिज करते हुए इसे निराधार बताया।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड