Image Loading
रविवार, 25 सितम्बर, 2016 | 04:05 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • जम्मू में आतंकियों के 2 गाइड गिरफ्तार
  • केरल LIVE: आतंकवाद को एक्सपोर्ट कर रहा पाकिस्तान : PM मोदी
  • केरल LIVE: PM मोदी का पाक पर हमला, कहा- एक देश खून खराबा करने में लगा
  • केरल के कोझिकोड की रैली में पीएम मोदी ने मलयालम में शुरू किया भाषण
  • KANPUR TEST: तीसरे दिन का खेल खत्म, मुरली-पुजारा की नाबाद फिफ्टी, भारत-159/1
  • बिहार: पटना जिले के फतुहा में एएसआई आरआर चौधरी को बदमाशों ने गोली मारी, मौत
  • KANPUR TEST: केएल राहुल 38 रन बनाकर आउट, भारत-52/1
  • KANPUR TEST: न्यूजीलैंड की पारी 262 पर सिमटी, भारत को 56 रनों की बढ़त
  • इराक की राजधानी बगदाद में तीन आत्मघाती बम धमाके, 11 सुरक्षा कर्मियों की मौत: AP
  • कानपुर टेस्ट: न्यूजीलैंड का छठा विकेट गिरा, स्कोर-255/6

हिंसा के बाद मोरसी ने किया देश को संबोधित

काहिरा, एजेंसी First Published:07-12-2012 09:57:02 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
हिंसा के बाद मोरसी ने किया देश को संबोधित

मिस्र के राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी के समर्थकों और उनका विरोध कर रहे लोगों के बीच हुई हिंसा के 30 घंटे बाद मोरसी ने टेलीविजन पर प्रसारित सीधे भाषण में देश को संबोधित किया।

मोरसी ने विवादास्पद नए संविधान पर 15 दिसंबर को जनमत संग्रह कराए जाने का संकल्प दोहराया और कहा कि इसके बाद किसी तरह की बाधा खड़ी नहीं की जानी चाहिए और हर किसी को इसका पालन करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यदि जनमत संग्रह में लोग नए संविधान को खारिज करते हैं तो वह विवादास्पद संवैधानिक घोषणा को रद्द कर देंगे और नयी संविधान सभा गठित करेंगे। मोरसी ने हाल के घटनाक्रम के लिए विपक्षियों और पूर्व शासन के शेष लोगों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में अभियोजन अधिक ब्यौरे का खुलासा करेगा।

मोरसी ने अपने भाषण में कहा कि 80 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए हैं। राष्ट्रपति ने विपक्ष के साथ वार्ता की पेशकश की और उनके प्रतिनिधियों से शनिवार को उनके कार्यालयों में मिलने की बात कही।

उनके भाषण के खत्म होते ही सोशल मीडिया पर आहवान किया गया कि वर्तमान स्थिति के विरोध में कल एक बार फिर सड़कों पर उतरा जाए। मोरसी के इस्लामी समर्थकों और धर्मनिरपेक्ष विरोधियों के बीच कल हुई हिंसा में सात लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हुए थे।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड