Image Loading
शुक्रवार, 30 सितम्बर, 2016 | 05:19 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले केजरीवाल, 'भारत माता की जय'
  • उरी हमले का बदलाः हेलीकॉप्टर से LOC पारकर भारतीय सेना ने किया हमला, कई आतंकी...
  • भारतीय सेना ने LOC पारकर भीमबेर, केल, लिपा और हॉटस्प्रिंग सेक्टर में घुसकर आतंकी...
  • करीना कपूर ने किया अपने बारे में एक बड़ा खुलासा, इसके अलावा पढ़ें बॉलीवुड जगत की...
  • पुजारा को लेकर अलग-अलग है कोच कुंबले और कोहली की सोच, इसके अलावा पढ़ें क्रिकेट और...
  • कर्क राशि वालों का आज का दिन भाग्यशाली साबित होगा, जानिए आपके सितारे क्या कह रहे...
  • वेटर, बस कंडक्टर से बने सुपरस्टार, क्या आपमें है ऐसा कॉन्फिडेंस? पढ़ें ये सक्सेस...

हाई कोर्ट पहुंचे अकबरुद्दीन ओवैसी

हैदराबाद, एजेंसी First Published:07-01-2013 10:47:33 PMLast Updated:08-01-2013 10:12:42 AM

मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलमीन (एमआईएम) के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी अपने नफरत भरे भाषण को लेकर उठे विवाद के बीच आज लंदन से लौट आए और अपने विरुद्ध दर्ज प्राथमिकी को रदद किए जाने की मांग को लेकर आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय का रुख किया।

ओवैसी के लंदन से लौटते ही उनके वकील ने आदिलाबाद में निर्मल पुलिस के समक्ष आवेदन दायर कर उपस्थित होने के लिए चार दिन का समय मांगा। इसके लिए खराब सेहत का हवाला दिया गया। ओवैसी को आज निर्मल पुलिस के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया था। वह किसी बीमारी के इलाज के लिए लंदन गए थे जिसकी जानकारी नहीं है।

वापस आने के कुछ घंटों बाद ही उन्होंने अपने वकील के माध्यम से आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय में याचिका दायर की और कहा कि उन्हें राजनीतिक कारणों से फंसाया गया है। याचिका में ओवैसी के वकील ने दावा किया है, ओवैसी एक विधायक हैं और किसी भी समय जांच के लिए उपलब्ध हैं। ऐसे में उन्हें गिरफ्तार करने की कोई जरूरत नहीं है। उच्च न्यायालय ने इस मामले पर विचार के लिए नौ जनवरी की तारीख मुकर्रर की है।

इस बीच आंध्र प्रदेश की विधानसभा की आचरण समिति विधानसभाध्यक्ष से ओवैसी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू करने की अनुशंसा करेगी। उधर, विपक्षी भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर ओवैसी के साथ राजनीतिक कारणों से नरम रुख अख्तियार करने का आरोप लगाया। पार्टी ने एमआईएम विधायक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड