Image Loading
मंगलवार, 24 मई, 2016 | 11:33 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • लखनऊ, चंडीगढ़, फरीदाबाद, अगरतला समेत 13 नए शहर स्मार्ट सिटी के लिए चुने गए
  • राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने NEET अध्यादेश पर किए हस्ताक्षर
  • इसी सप्ताह आएगा 10वीं का परीक्षा परिणामः सीबीएसई
  • VIDEO: देखें क्या हुआ जब घुप्प अंधेरे के बीच दिल्ली-NCR में कड़की बिजली
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 10 अंक फिसलकर 25,220 पर खुला, निफ़्टी 7731
  • एक क्लिक में जानें 5 बड़ी खबरें, जिन पर रहेगी नजर
  • दिल्ली: खराब मौसम के कारण करीब 24 उड़ानें डाइवर्ट हुईं और 12 देर से पहुंचीं
  • ब्रेड में मिले जानलेवा कैमिकल, कैंसर का खतरा
  • बिहार- एमएलसी मनोरमा देवी की जमानत याचिका पर सुनवाई, कोर्ट ने मांगी केस डायरी
  • दिल्ली: नरेला स्थित प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी भीषण आग

हेडली, राणा को अगले साल जनवरी में सुनाई जाएगी सजा

शिकागो, एजेंसी First Published:29-11-2012 09:57:08 AMLast Updated:29-11-2012 03:08:57 PM
हेडली, राणा को अगले साल जनवरी में सुनाई जाएगी सजा

लश्कर-ए-तैयबा के अमेरिका में जन्मे आतंकी एवं मुंबई हमलों में संलिप्तता के आरोपी डेविड कोलमैन हेडली को अगले साल 17 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी, जबकि उसके साथी तहव्वुर हुसैन राणा की सजा की घोषणा अब चार दिसंबर की बजाय 15 जनवरी को होगी।
  
शिकागो अदालत के प्रवक्ता रैंडल सैम्बोर्न के अनुसार अमेरिकी जिला न्यायाधीश हैरी लीनेनवेबर दोनों आतंकियों की सजा की घोषणा करेंगे। उन पर 26 नवम्बर 2008 के मुम्बई हमलों तथा डेनमार्क के एक अखबार पर हमले की साजिश में शामिल होने का आरोप है।
  
प्रवक्ता ने कहा कि राणा की सजा की घोषणा की तारीख में बदलाव किया गया है। उसे अब चार दिसंबर 2012 की बजाय 15 जनवरी 2013 को सजा सुनाई जाएगी।
  
उन्होंने कहा, उन तारीखों (15 और 17 जनवरी) को दोनों को सजा सुनाए जाने संबंधी सुनवाई डिरकसन संघीय अदालत के जिला न्यायाधीश हैरी लीनवेबर के समक्ष सुबह नौ बजकर 45 मिनट पर शुरू होगी।
  
हेडली (52) ने मुम्बई हमलों से संबंधित ठिकानों की टोह लेकर लश्कर-ए-तैयबा की मदद की थी। वह एफबीआई द्वारा लगाए गए सभी आरोपों में अपना गुनाह कबूल कर चुका है।
   
हेडली को एफबीआई ने कोपनहेगन के एक अखबार के कर्मियों पर हमले की साजिश में शामिल होने का आरोपी बनाया था। बाद में उस पर मुम्बई में बम हमलों की साजिश रचने, आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को साजो सामान संबंधी मदद मुहैया कराने और मुम्बई हमलों में अमेरिकी नागरिकों की हत्या से संबंधित आरोप लगाए गए।
  
उसने 18 मार्च 2010 को इन सभी आरोपों में अपना गुनाह कबूल कर लिया था। इस आतंकी को भारत में सार्वजनिक स्थानों पर बम हमलों की साजिश रचने और भारत में अमेरिकी नागरिकों की हत्या से संबंधित छह आरोपों में सजा-ए-मौत मिल सकती थी, लेकिन उसने एफबीआई के साथ सजा में छूट संबंधी समझौता कर लिया। इस समझौते के तहत उसने कहा था कि वह आतंकी गतिविधियों से संबंधित जांच में मदद करेगा।
  
राणा को जूरी ने 10 जून 2011 को दोषी ठहराया था। उसे डेनमार्क के अखबार पर हमले की साजिश रचने तथा लश्कर-ए-तैयबा की मदद करने के जुर्म में दोषी ठहराया गया था, लेकिन मुम्बई हमलों की साजिश के मामले में उसे बरी कर दिया गया।
  
राणा ने खुद को सभी मामलों में बरी किए जाने तथा फिर से मुकदमा चलाए जाने का आग्रह किया था, जिसे खारिज कर दिया गया। इसके बाद उसे सजा सुनाए जाने के लिए चार दिसंबर 2012 की तारीख तय की गई। इस तारीख को बदलकर अब 15 जनवरी 2013 कर दिया गया है।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
...तो इसलिए जिम्बाब्वे दौरे के लिए धौनी को नहीं मिला आराम...तो इसलिए जिम्बाब्वे दौरे के लिए धौनी को नहीं मिला आराम
राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष संदीप पाटिल ने सोमवार जिम्बाब्वे और वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीमों की घोषणा के बाद कहा कि कप्तान महेंद्र सिंह धौनी जिम्बाब्वे दौरे पर जाना चाहते थे जबकि टेस्ट कप्तान विराट कोहली को टीम फिजियो की सलाह पर आराम दिया गया है।