class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर से एयरपोर्ट पहुँचने के मामले में फिसड्डी है दिल्ली

घर से एयरपोर्ट पहुँचने के मामले में फिसड्डी है दिल्ली

घर से एयरपोर्ट पहुंचने के मामले में दिल्ली फिसड्डी है। दिल्ली में औसत तौर घर से दिल्ली एयरपोर्ट पहुँचने में 65 से 72 मिनट लगता है। अंतिम 5 किलोमीटर में एयरपोर्ट पर पहुंचने में गति 16.1 किलोमीटर प्रति घंटा रह जाती है जबकि शहर के किसी भी कोने से एयरपोर्ट पहुंचने में औसत गति 20 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह खुलासा स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर द्वारा तैयार रिपोर्ट में सामने आया है। रिपोर्ट के अनुसार देश में दिल्ली एयरपोर्ट गति के मामले में 60 वें नम्बर पर है गति के मामले में हैं। हैदराबाद एयरपोर्ट मैट्रो शहरों में एकमात्र ऐसा एयरपोर्ट है जहां शहर के किसी भी कोने से एयरपोर्ट पहुंचने में सबसे कम समय लगता है जबकि इस मामले में दिल्ली एयरपोर्ट अंतिम पायदान पर है।

तयशुदा समय में पहुंचने में अविश्वसनीय है दिल्ली एयरपोर्ट 

तयशुदा समय में पहुंचने में दिल्ली एयरपोर्ट अविश्वसनीय है। इस मामले में शिलांग एयरपोर्ट नंबर एक हैं। रिपोर्ट के अनुसार न्यूनतम समय में 18 किलोमीटर दूरी तय कर दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचने में 31 मिनट लगता है और अधिकतम समय 76 मिनट लगता है। इस मामले में दिल्ली एयरपोर्ट देश के अन्य मैट्रो शहरों के मुकाबले अंतिम पायदान पर है। वहीं रिलायबिलिटी फैक्टर जिसमें बस, मैट्रो और कार से दिल्ली एयरपोर्ट जाने के मामले में अन्य मैट्रो शहरों के मुकाबले दिल्ली एयरपोर्ट कमजोर हैं। इस मामले में यह हैदराबाद, बेंगलुरू और मुंबई एयरपोर्ट से पीछे हैं। 
टोक्यो और लंदन के मामले में गति  आधी से कम : शोधकर्ता प्रोफेसर सेवाराम कहते हैं कि  टोक्यो और लंदन एयरपोर्ट पहुंचने में दिल्ली एयरपोर्ट में आधा से कम समय लगता है। यहां पर औसत तौर पर एयरपोर्ट पहुंचने में 30 मिनट लगते हैं। रिपोर्ट के अनुसार न्यूयॉर्क जैसा शहर जहां कारों की संख्या अधिक है एयरपोर्ट पहुंचने में 30 से 40 मिनट लगता है।


पहुंचने के मामले में छोटे एयरपोर्ट से भी बदतर दिल्ली

एयरपोर्ट पहुंचने के मामले में देश के मैट्रो शहरों के एयरपोर्ट के साथ छोटे शहरों के एयरपोर्ट से भी दिल्ली पिछड़ा हुआ है। गोवा, श्रीनगर, उदयपुर,विजयवाड़ा, अहमदाबाद, कोचीन, कालीकट, राजमुंदरी, अहदमाबाद, शिलांग आदि से भी पीछे हैं। यहां एयरपोर्ट पहुंचने में औसत गति सीमा 30 किमी प्रति घंटा से 35 किमी प्रति घंटा तक हैं। 
दिल्ली यहां बेहतर : देश के सभी एयरपोर्ट में कनेक्टिविटी के मामले में नंबर एक हैं। यहां से देश और विदेश की फ्लाइट मिलना सबसे आसान है। दिल्ली एयरपोर्ट के बाद दूसरा नंबर मुंबई एयरपोर्ट का आता है। 

समाधान : प्रोफेसर सेवाराम के अनुसार
ट्रांजिट माध्यम से जोड़ा जाए : ट्रांजिट माध्यम जैसे कि मैट्रो से दिल्ली के आसपास बनने वाले एयरपोर्ट को जोड़ा जाए। जैसे कि मुंबई एयरपोर्ट को नवी मुंबई एयरपोर्ट से जोड़ा गया है। ऐसे ही दिल्ली एयरपोर्ट से ग्रेटर नोएडा के एयरपोर्ट को जोड़ा जाए। 
गुड़गांव में एयरपोर्ट बनें :: अगर गुड़गांव में एयरपोर्ट बनता है तो उसकी कनेक्टिविटी एनसीआर के अन्य एयरपोर्ट के मुकाबले बेहतर होगी क्योंकि आने वाले समय में द्वारका एक्सप्रेसवे एयरपोर्ट तक की राह आसान कर सकता है। 

कैसे समय का अंतर --मिनट में 
शहर    न्यूनतम समय    अधिकतम समय
बेंगलुरू    39        57
हैदराबाद    42        68
मुंबई     29        55
चेन्नई    21        43
कोलकाता    27        62
नई दिल्ली    31        76


एयरपोर्ट में बस और मैट्रो से सफर करने में समय --मिनट में 
शहर    बस    मैट्रो
हैदराबाद    86.8    -
मुंबई    93.4    70.1
चेन्नई    94.3    74.6
नई दिल्ली    117.4    94.6    

कार से एयरपोर्ट पहुंचने में समय--मिनट
शहर    समय
चेन्नई    41.03
हैदराबाद    55.04
मुंबई    61.32
कोलकाता    65.12
नई दिल्ली    70.92

    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:it takes more time in delhi to reach airport from home