Image Loading इंटरनेट कर रहा 83 करोड़ टन कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 12 फरवरी, 2016 | 11:08 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • हेडली LIVE: बाल ठाकरे और शिवसेना भवन भी थे लश्कर के निशाने पर, राजाराम रेगे से की...
  • चार दिन के बड़े झटके के बाद आखरी कारोबारी दिन संभला बाजार, सेंसेक्स 53 अंक चढ़ा,...
  • अजय माथुर को पूर्ण कार्यकारी शक्तियों के साथ टेरी का महानिदेशक नियुक्त किया...

इंटरनेट कर रहा 83 करोड़ टन कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन

मेलबर्न, एजेंसी First Published:06-01-2013 05:54:07 PMLast Updated:06-01-2013 08:26:50 PM
इंटरनेट कर रहा 83 करोड़ टन कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन

एक अध्ययन के अनुसार इंटरनेट तथा सूचना संचार एवं प्रौद्योगिकी (आईसीटी) उद्योग के दूसरे उपकरणों से सालाना 83 करोड़ टन से अधिक कार्बन डाई आक्साइड उत्सर्जित होती है जिसके 2020 तक दोगुना होने का अनुमान है।

सेंटर फोर एनर्जी एफिसिएंट टेलीकम्युनिकेशंस (सीईईटी) तथा बेल लैब के अनुसंधानकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला है। रपट में कहा गया है कि आईसीटी उद्योग का वैश्विक कार्बन डाइ आक्साइड उत्सर्जन में दो प्रतिशत हिस्सा है। यह हिस्सा विमानन उदयोग द्वारा उत्सर्जित कार्बन डाइ आक्साइड के समान है।

आईसीटी उद्योग में इंटरनेट, वीडियो, वायस तथा अन्य क्लाउड सेवाएं आती हैं। इन्वायरमेंटल साइंस एंड टेक्नालाजी में प्रकाशित रपट के अनुसार ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में आईसीटी का हिस्सा बढ़कर 2020 तक दोगुना होने का अनुमान है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
कैसा रहा साल 2015
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड