Image Loading अक्टूबर में औद्योगिक वृद्धि दर उछलकर 8.2% - LiveHindustan.com
बुधवार, 04 मई, 2016 | 15:19 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • बरेली में मेडिकल के छात्र का अपहरण, बदमाशो ने घर वालो से मांगी 1 करोड़ की फिरौती
  • राज्य सभा की अनुशासन समिति ने विजय माल्या की सदस्यता तत्काल खत्म करने की...
  • उत्तराखंड मामलाः केंद्र ने SC में कहा, बहुमत परीक्षण पर कर रहे विचार, शुक्रवार को...

अक्टूबर में औद्योगिक वृद्धि दर उछलकर 8.2 फीसदी

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-12-2012 03:33:45 PMLast Updated:12-12-2012 06:18:09 PM
अक्टूबर में औद्योगिक वृद्धि दर उछलकर 8.2 फीसदी

औद्योगिक उत्पादन में ऊंची वृद्धि दर महीनों बाद फिर लौट आयी है। विनिर्माण, बिजली और पूंजीगत व उपभोक्ता उत्पाद क्षेत्र के अपेक्षाकृत वेहतर प्रदर्शन से अक्टूबर 2012 में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक पर आधारित औद्योगिक वृद्धि दर 16 महीने के उच्चतम स्तर 8.2 फीसदी पर पहुंच गयी।

इसे अर्थव्यवस्था की हालत में झटके से सुधार का संकेत मिलता है। वित्त मंत्री चिदंबरम ने आईआईपी के ताजा आंकड़ों को उत्साहजनक बताया और कहा है कि यह अर्थव्यवस्था में नयी कोपले फूटने का संकेत है।

पिछले साल अक्टूबर में औद्योगिक उत्पादन में पांच फीसदी संकुचन हुआ था, जबकि अक्टूबर, 2011 में औद्योगिक वृद्धि दर 9.5 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से अक्टूबर तक औद्योगिक दर 1.2 फीसदी रही जबकि पिछले साल इस दौरान 3.6 फीसदी थी।

संशोधित आंकड़ों के अनुसार, सितंबर,12 में औद्योगिक उत्पादन में गिरावट को संशोधित कर 0.7 फीसदी कर दिया गया है, जबकि पहले यह गिरावट 0.4 फीसद बतायी गयी थी।

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में 75 फीसदी भारांक रखने वाले विनिर्माण क्षेत्र ने इस बार अक्टूबर के दौरान 9.6 फीसदी वृद्धि दर्ज की। पिछले साल इसी माह इस क्षेत्र का उत्पादन छह फीसदी घटा था।

 

 

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
अश्विन ने बताया क्यों हार रही है धौनी की टीम पुणे सुपरजाइंट्सअश्विन ने बताया क्यों हार रही है धौनी की टीम पुणे सुपरजाइंट्स
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 9वें सीजन में नई टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की हालत बहुत खस्ता रही है। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली इस टीम ने आठ में से महज दो मैच ही जीते हैं।