Image Loading खाद्य विधेयक पर और बहस की जरूरत: परामर्श पत्र - LiveHindustan.com
रविवार, 14 फरवरी, 2016 | 13:35 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • U-19 वर्ल्ड कप: वेस्ट इंडीज के सामने 146 रन का लक्ष्य
  • एक साल पूरे होने पर केजरीवाल का बड़ा ऐलानः बिजली बिल और पानी के बिल माफ

खाद्य विधेयक पर और बहस की जरूरत: परामर्श पत्र

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:23-12-2012 07:13:15 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

भारतीय कृषि क्षेत्र की लागत और उपजों के मूल्य पर सरकार को सुझाव देने वाले एक उच्चस्तरीय अधिकारी ने कहा है कि समाज कल्याण के इस महत्वाकांक्षी कार्य्रकम की दीर्घकालिक व्यावहार्यता पर और बहस की जरूरत है।

खाद्य विधेयक पर साझे में लिखे एक परचे में कृषि लागत एवं मूल्य आयोग के प्रमुख अशोक गुलाटी ने खाद्य विधेयक में खामियों का भी जिक्र किया है। परामर्श पत्र में यह भी सलाह दी गई है कि सरकार सब्सिडीशुदा खाद्य की हाजिर आपूर्ति के बजाय सशर्त नकदी हस्तांतरण पर विचार करे, क्योंकि वैश्विक स्तर पर खाद्य एवं पोषण सुरक्षा हासिल करने में सीसीटी को अधिक प्रभावी पाया गया है।

राष्ट्रीय खादय सुरक्षा विधेयक को लोकसभा में पेश किया जा चुका और संसद की स्थायी समिति इस पर विचार कर रही है। इसकी रपट संसद के अगले सत्र में आ सकती है। इस विधेयक से देश की 67 प्रतिशत जनसंख्या को सब्सिडीशुदा अनाज का कानूनी अधिकार मिलेगा।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
कैसा रहा साल 2015
क्रिकेट
'मिनिस्टर साब' बने रोहित शर्मा, निभाएंगे समाज से किए वादे!
टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा क्रिकेटर से नेता बन गए हैं! ऐसा हम नहीं हरभजन सिंह कह रहे हैं। श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज का आखिरी मैच खेलने टीम इंडिया विशाखापट्टनम पहुंची तो स्वागत जोरदार ढंग से हुआ।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड