Image Loading
बुधवार, 25 मई, 2016 | 10:49 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • हैबतुल्ला अखुंदजादा अफगान तालिबान का नया सरगना बना
  • अफगान तालिबान ने अमेरिकी ड्रोन हमले में पूर्व नेता मुल्ला अख्तर मंसूर की मौत की...
  • उत्तराखंड: अल्मोड़ा में बस खाई में गिरी, 8 लोगों की मौत
  • उत्तराखंड बोर्ड: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट थोड़ी देर में। देखने के लिए...
  • तिरूवनंतपुरमः शपथ ग्रहण से पहले राज्यपाल पी सदाशिवम से मिले पिनरई विजयन
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 318 अंक चढ़कर 25,621 पर पंहुचा, निफ़्टी 7,855
  • चीन-भारत बिजनेस फोरम: दोनों देशों के बीच आर्थिक और व्यापारिक सहयोग की असीम...
  • गुआंगझोउः चीन-भारत बिजनेस फोरम में बोले राष्ट्रपति मुखर्जी, चीन की आर्थिक...
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट आज होगा घोषित, कैसे देखें नतीजे? जानने के लिए क्लिक...

मणिनगर में मोदी को बढ़त, पहले चरण में पिछड़ी श्वेता

अहमदाबाद/शिमला, एजेंसी First Published:20-12-2012 08:53:37 AMLast Updated:20-12-2012 10:47:58 AM

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा के नतीजों के लिए जारी मतगणना में नरेंद्र मोदी एक बार फिर जीत की ओर बढ़ते दिखाई दे रहे हैं, वहीं हिमाचल प्रदेश में शुरुआती रुझानों में कांग्रेस को बहुमत मिल गया है। दोनों ही प्रदेशों में इस बार रिकॉर्ड वोटिंग हुई थी।

गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना के पहले चरण में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी मणिनगर विधानसभा क्षेत्र से आगे चल रहे हैं। मतगणना के पहले चरण में मोदी कांग्रेस की उम्मीदवार और अपनी प्रतिद्वंद्वी श्वेता भट्ट से काफी आगे हैं।
   
राज्य निर्वाचन कार्यालय के सूत्रों के अनुसार मोदी को पहले चरण में 8,780 वोट मिले हैं, वहीं श्वेता के खाते में 1,015 वोट आये हैं।
   
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अर्जुन मोधवाडिया पोरबंदर में भाजपा के अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार से पीछे चल रहे हैं, जबकि गुजरात परिवर्तन पार्टी के महासचिव गोरधन जडाफिया भी भाजपा उम्मीदवार से पीछे हैं।

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि जिन 160 निर्वाचन क्षेत्रों पर रुझान मिले हैं, उनमें से 100 में भाजपा उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए हैं। कांग्रेस 57 सीटों पर आगे चल रही है, लेकिन उसे कड़ी प्रतिस्पर्धा मिलती दिख रही है।

भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल की गुजरात परिवर्तन पार्टी (जीपीपी) सौराष्ट्र क्षेत्र में तीन सीटों पर आगे चल रही है। अधिकारियों ने बताया कि अब तक किसी भी सीट पर परिणामों की घोषणा नहीं हुई है। मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी अपने गृह निर्वाचन क्षेत्र मणिनगर में जीत की ओर बढ़ रहे हैं।

इससे पहले राज्य में मतगणना की प्रक्रिया सुबह आठ बजे शुरू हुई। मोदी के विश्वस्त अमित शाह ने भाजपा को गुजरात विधानसभा की 182 सीटों में से दो-तिहाई सीटें मिलने का विश्वास जताया है। वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 117 सीटें जीती थीं।

गुजरात की 182 विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव और हिमाचल प्रदेश की सर्द वादियों में राजनीतिक गर्माहट के बीच विधानसभा चुनाव की मतगणना आज सुबह आठ बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरु हो गई है।
 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयोग ने पूरे राज्य में 33 मतगणना केन्द्र स्थापित किए हैं। मतगणना के लिए करीब आठ हजार कर्मचारी तैनात किए गए है। मतगणना के लिए सुरक्षा के कडे इंतजाम किए गए है। सीटों के रूझान दो से तीन घंटों के अंदर सामने आने लगेंगे।
 
गुजरात में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस में सीधी टक्कर है। मीडिया के विभिन्न एक्जिट पोल में मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के लगातार तीसरी बार सत्ता में आने का अनुमान जताया गया है। गुजरात विधानसभा की कुल 182 सीटों के लिए दो चरणों में 13 और 17 दिसंबर को मतदान कराया गया था।

हिमाचल प्रदेश की सर्द वादियो में राजनीतिक गर्माहट के बीच विधानसभा चुनाव की मतगणना आज सुबह आठ बजे शुरु हो गई। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना कडी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुई। दोपहर तक अधिकांश नतीजे आने की संभावना है।
 
राज्य में गत चार नवम्बर को हुए विधानसभा चुनाव में रिकार्ड 75 प्रतिशत मतदान हुआ था। चुनाव में 459 उम्मीदवार खड़े हुए थे। मुख्य मुकाबला कांग्रेस तथा सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी के बीच है। कुछ सीटों पर निर्दलीयों भाजपा से अलग हुए हिमाचल लोकहित पार्टी अथवा वाम दलों ने तिकोना बना दिया।

मुख्य प्रतिद्वंद्वियों में मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल (पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष वीरभद्र सिंह) मेजर विजय सिंह मनकोटिया, श्रीमती विद्या स्टोक्स, भाजपा के अध्यक्ष सतपाल सत्ती, हिलोपा के अध्यक्ष एवं भाजपा के पूर्व सांसद महेश्वर सिंह प्रमुख हैं।
 
धूमल ने दावा किया है कि राज्य में उनकी पार्टी फिर सत्ता में लौटने जा रही है। उनकी सरकार ने राज्य में विकास के इतने काम किए और सभी वर्गों को खुश रखा जिसके चलते भाजपा का सत्ता में लौटना तय है।

दूसरी ओर मुख्यमंत्री पद के दावेदार वीरभद्र सिंह ने कहा है कि एक्जिट पोल के नतीजों से भी अधिक सीटें लेकर उनकी पार्टी बहुमत के साथ सत्ता में लौटेगी और जनता से किए सभी वादे पूरे करेगी।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट