Image Loading
शनिवार, 28 मई, 2016 | 13:28 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • भाजपा झूठा जश्‍न मना रही है, इस सरकार ने कोई नए रोजगार नहीं दिएः चिदंबरम
  • पी चिदंबरम ने मोदी सरकार की योजनाओं पर उठाए सवाल, बोले- दो साल में देश का बुरा हाल
  • CBSE ने जारी किए 10वीं के नतीजे, cbseresults.nic.in पर देखें अपना रिजल्ट
  • अमेरिका ने पाक को समझाया, भारत की NSG सदस्यता हथियारों से संबंधित नहीं

दिल्ली सरकार-पुलिस आयुक्त के बीच तेज हुई जुबानी जंग

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:26-12-2012 11:08:57 PMLast Updated:27-12-2012 09:45:42 AM
दिल्ली सरकार-पुलिस आयुक्त के बीच तेज हुई जुबानी जंग

सामूहिक बलात्कार मामले में दिल्ली सरकार ने पुलिस आयुक्त नीरज कुमार पर बुधवार को भी दबाव बनाना जारी रखा और कहा कि उन्हें पीड़िता का बयान दर्ज करने वाली सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट  की कार्यप्रणाली पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।

मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की अगुआई में हुई मंत्रिमंडल की एक बैठक के बाद दिल्ली के मुख्य सचिव पी के त्रिपाठी ने कहा कि पुलिस आयुक्त को एसडीएम की कार्यप्रणाली पर फैसला लेने का अधिकार नहीं है। यह पूछे जाने पर कि क्या इस मुद्दे को राजनैतिक फायदे के लिए तूल दिया जा रहा है उन्होंने इन आरोपों का खंडन किया और कहा कि इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं हो रही है।

उल्लेखनीय है कि पीड़िता का पहली बार बयान दर्ज करने वाली एसडीएम उषा चतुर्वेदी ने आरोप लगाया था कि बयान दर्ज करने के दौरान दिल्ली पुलिस के तीन आला अधिकारियों ने हस्तक्षेप की कोशिश की थी।

सूत्रों का कहना है कि मंत्रिमंडल ने उषा की ओर से लिखे पत्र पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल ने शीला की ओर से केन्द्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे को लिखे पत्र में की गई मांग का भी समर्थन किया। इस पत्र में मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की गई है।

दिल्ली के एक मंत्री ने कहा कि मंत्रिमंडल का मानना है कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ अत्यधिक बलप्रयोग किया, जो स्वीकार्य नहीं है।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
'टीम में जगह को लेकर असुरक्षित महसूस करके आप गलती करते हो'
शानदार फॉर्म में चल रहे भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने कहा कि हर मैच में अच्छा प्रदर्शन करने की भूख ही उनकी प्रेरणा है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 9वें सीजन में कोहली ने अपने दम पर टीम को फाइनल तक पहुंचाया है।