Image Loading
बुधवार, 24 अगस्त, 2016 | 19:12 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • यूपी सरकार को बड़ा झटका, हाईकोर्ट ने 2011 की दरोगा भर्ती को किया निरस्त, 4010 पदों को नए...
  • कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी हमले में एक अधिकारी सहित 9 सुरक्षाकर्मी घायल
  • भूकंप के बाद कोलकाता में मेट्रो सेवा रोक दी गई
  • भूकंप की तीव्रता 6.8 मापी गई, भूकंप का केन्द्र था म्यांमार: टीवी रिपोर्ट्स
  • असम में भी महसूस किए गए भूकंप के झटके: ANI
  • कोलकाता, मालदा में भी भूकंप के झटके
  • रांची में भी महसूस किए गए भूकंप के झटके
  • पटना में भूकंप के झटके महसूस किए गए
  • व्यापारिक सरोगेसी पर रोक, कैबिनेट ने बिल मंजूर किया, सरोगेट बच्चे को नहीं अपनाने...
  • सेंसेक्स 69.73 अंक चढ़कर 28,059.94 अंक, निफ्टी 17.70 अंक मजबूती के साथ 8,650.30 अंक पर बंद हुआ
  • इटली में भूकंप से अब तक 37 लोगों की मौत: रॉयटर्स
  • सिंगल पैरेंट्स, होमोसेक्शुअल कपल, लिव इन रिलेशनशिप कपल्स को सेरोगेसी की इजाज़त...
  • मोदी कैबिनेट ने किराए की कोख से संबंधित विधेयक को मंजूरी दी
  • वैष्णो देवी भवन के गेट नंबर 3 के पास लैंडस्लाइड, 1 CRPF जवान की मौत
  • शिक्षा मित्र और टीईटी मामले में SC का यूपी सरकार से सवाल, बताएं अब तक कितनी...
  • दही-हांडी उत्सवः सुप्रीम कोर्ट ने मानव पिरामिड की ऊंचाई 20 फीट से अधिक न रखने के...
  • लखनऊ में यूपी भाजपा का राज्य में बिगड़ते कानून-व्यवस्था के हालात पर अखिलेश...
  • स्कॉर्पियन सबमरीन की खुफिया जानकारी भारत से नहीं देश के बाहर से लीक हुई, नौसेना...
  • दिल्लीः गृह मंत्री राजनाथ सिंह घाटी में हालात का जायजा लेने के लिए कश्मीर के दो...
  • धनु राशि वालों के खर्चों में वृद्धि होगी, शासन सत्ता का सहयोग मिलेगा। आज क्या...

फेसबुक पर जितने ज्यादा दोस्त, उतना ज्यादा तनाव

लंदन, एजेंसी First Published:27-11-2012 01:45:12 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
फेसबुक पर जितने ज्यादा दोस्त, उतना ज्यादा तनाव

फेसबुक पर दोस्तों की बड़ी संख्या देखकर आप खुद को मशहूर तो महसूस कर सकते हैं, लेकिन इससे आपको काफी तनाव भी झेलना पड़ सकता है।

एक नई रिपोर्ट के अनुसार, आप जितने ज्यादा लोगों को अपनी फ्रेंड लिस्ट में शामिल करते हैं, उतना ही आप ज्यादा तनाव में रहते हैं कि कहीं कुछ आक्रामक न कर बैठें।

एडिनबर्ग बिजनेस स्कूल विश्वविद्यालय की रिपोर्ट में पाया गया है कि किसी के फेसबुक दोस्तों में लोगों के जितने ज्यादा समूह होते हैं, किसी का अपमान करने की संभावना उतनी ही ज्यादा बढ़ जाती है। विशेष तौर पर अपने नियोक्ताओं और माता-पिता को फ्रेंडलिस्ट में शामिल करने से भी चिंताएं काफी बढ़ जाती हैं।

यहां तनाव तब बढ़ता है जब एक यूजर फेसबुक पर खुद को कुछ इस तरह पेश करता है जो कि उसके ऑनलाइन दोस्तों को अस्वीकार्य हो। उदाहरण के तौर पर उसकी पोस्टस में गाली गलौज, लापरवाही, शराब या धूम्रपान की आदत की झलक ऑनलाइन दोस्तों को नापसंद हो सकती है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साइट से जुड़ने वाले बड़ी उम्र के लोगों के साथ यह समस्या ज्यादा बढ़ रही है क्योंकि उनकी उम्मीदें युवा यूजर्स के मुकाबले काफी अलग हो सकती हैं।

शोधकर्ताओं ने पाया कि फेसबुक इस्तेमाल करने वाले लोगों के औसतन सात अलग-अलग सामाजिक दायरों के दोस्त होते हैं। इनमें से सबसे ज्यादा यानि 97 प्रतिशत दोस्त वे होते हैं जिन्हें ये इंटरनेट से इतर भी जानते हैं। इसके बाद आपके दूर के रिश्तेदार (81 प्रतिशत), सगे भाई बहन(80 प्रतिशत), दोस्तों के दोस्त(69 प्रतिशत) और सहकर्मी (65 प्रतिशत) हैं।

इस रिपोर्ट में यह भी पाया गया कि अधिकतर लोग अपने वर्तमान साथी के बजाय पूर्व साथियों के साथ फेसबुक पर दोस्ती रखे हुए हैं। इस रिपोर्ट में फेसबुक पर 300 लोगों का सर्वेक्षण किया गया। इनमें से अधिकांश औसतन 21 वर्ष की उम्र के विद्यार्थी थे।

इस रिपोर्ट के लेखक बेन मार्डर ने एक बयान में कहा, फेसबुक एक ऐसी जगह है जहां आप अपने सभी दोस्तों के साथ नाच सकते हैं, पी सकते हैं और इश्क लड़ा सकते हैं। लेकिन अब क्योंकि आपकी मां, पिता और बॉस वहां है तो इस पार्टी के साथ चिंताएं जुड़ जाती हैं।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें