Image Loading
बुधवार, 25 मई, 2016 | 12:45 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट यहां देखें, ये है 12th की टॉप 10 लिस्ट
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट घोषित, अपना रिजल्ट देखने के लिए क्लिक करें
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड पर पुलिस की प्रेस...
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड पर एडीजी की प्रेस...
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड पर एडीजी की प्रेस...
  • अफगानिस्तान की राजधानी काबूल के नजदीक आत्मघाती बम हमले में 10 लोगों की मौतः गृह...
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट जारी, इंटर में प्रियंका ने किया टॉप। पढ़ें पूरी खबर
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट जारी: इंटर में हल्द्वानी की प्रियंका और हाईस्कल में...
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड: हत्या में इस्तेमाल हथियार...
  • उत्तराखंड बोर्ड: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट जारी
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड: सुपारी किलर रोहित ने...
  • बिहार: हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड: सुपारी किलर रोहित ने की थी...
  • सार्क सम्मेलन में शामिल होने पाकिस्तान जाएंगे पीएम मोदी -टीवी रिपोर्टस
  • बिहार: सीवान में हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव हत्याकांड मामले में 6 लोग पुलिस...
  • हैबतुल्ला अखुंदजादा अफगान तालिबान का नया सरगना बना
  • उत्तराखंड बोर्ड: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट थोड़ी देर में। देखने के लिए...
  • उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट आज होगा घोषित, कैसे देखें नतीजे? जानने के लिए क्लिक...

फेसबुक पर जितने ज्यादा दोस्त, उतना ज्यादा तनाव

लंदन, एजेंसी First Published:27-11-2012 01:45:12 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
फेसबुक पर जितने ज्यादा दोस्त, उतना ज्यादा तनाव

फेसबुक पर दोस्तों की बड़ी संख्या देखकर आप खुद को मशहूर तो महसूस कर सकते हैं, लेकिन इससे आपको काफी तनाव भी झेलना पड़ सकता है।
  
एक नई रिपोर्ट के अनुसार, आप जितने ज्यादा लोगों को अपनी फ्रेंड लिस्ट में शामिल करते हैं, उतना ही आप ज्यादा तनाव में रहते हैं कि कहीं कुछ आक्रामक न कर बैठें।
  
एडिनबर्ग बिजनेस स्कूल विश्वविद्यालय की रिपोर्ट में पाया गया है कि किसी के फेसबुक दोस्तों में लोगों के जितने ज्यादा समूह होते हैं, किसी का अपमान करने की संभावना उतनी ही ज्यादा बढ़ जाती है। विशेष तौर पर अपने नियोक्ताओं और माता-पिता को फ्रेंडलिस्ट में शामिल करने से भी चिंताएं काफी बढ़ जाती हैं।
  
यहां तनाव तब बढ़ता है जब एक यूजर फेसबुक पर खुद को कुछ इस तरह पेश करता है जो कि उसके ऑनलाइन दोस्तों को अस्वीकार्य हो। उदाहरण के तौर पर उसकी पोस्टस में गाली गलौज, लापरवाही, शराब या धूम्रपान की आदत की झलक ऑनलाइन दोस्तों को नापसंद हो सकती है।
  
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साइट से जुड़ने वाले बड़ी उम्र के लोगों के साथ यह समस्या ज्यादा बढ़ रही है क्योंकि उनकी उम्मीदें युवा यूजर्स के मुकाबले काफी अलग हो सकती हैं।
  
शोधकर्ताओं ने पाया कि फेसबुक इस्तेमाल करने वाले लोगों के औसतन सात अलग-अलग सामाजिक दायरों के दोस्त होते हैं। इनमें से सबसे ज्यादा यानि 97 प्रतिशत दोस्त वे होते हैं जिन्हें ये इंटरनेट से इतर भी जानते हैं। इसके बाद आपके दूर के रिश्तेदार (81 प्रतिशत), सगे भाई बहन(80 प्रतिशत), दोस्तों के दोस्त(69 प्रतिशत) और सहकर्मी (65 प्रतिशत) हैं।
  
इस रिपोर्ट में यह भी पाया गया कि अधिकतर लोग अपने वर्तमान साथी के बजाय पूर्व साथियों के साथ फेसबुक पर दोस्ती रखे हुए हैं। इस रिपोर्ट में फेसबुक पर 300 लोगों का सर्वेक्षण किया गया। इनमें से अधिकांश औसतन 21 वर्ष की उम्र के विद्यार्थी थे।
  
इस रिपोर्ट के लेखक बेन मार्डर ने एक बयान में कहा, फेसबुक एक ऐसी जगह है जहां आप अपने सभी दोस्तों के साथ नाच सकते हैं, पी सकते हैं और इश्क लड़ा सकते हैं। लेकिन अब क्योंकि आपकी मां, पिता और बॉस वहां है तो इस पार्टी के साथ चिंताएं जुड़ जाती हैं।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
डिविलियर्स ने बताया क्यों वो बहुत घबराए हुए थे...डिविलियर्स ने बताया क्यों वो बहुत घबराए हुए थे...
आईपीएल-9 के पहले क्वालिफायर मुकाबले में मंगलवार को गुजरात लायंस पर रॉयल चेलैंजर्स बेंगलोर को चार विकेट से जीत दिला कर मैन ऑफ द मैच बने करिश्माई बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने कहा कि मैच के दौरान वह बहुत घबराए हुए थे।