Image Loading राष्ट्रपति मुर्सी ने आखिरकार लोगों को किया संबोधित - LiveHindustan.com
गुरुवार, 05 मई, 2016 | 02:41 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: केकेआर ने किंग्स इलेवन पंजाब को 7 रन से हराया
  • पठानकोट आतंकी हमले में मारे गए चार आतंकवादियों के शव चार महीने बाद दफनाए गए।
  • आईपीएल 9: केकेआर ने किंग्स इलेवन पंजाब के सामने 165 रन का लक्ष्य रखा
  • वीडियो में देखें कैसे पकड़ा गया 6 फीट का अजगर..
  • आईपीएल 9: किंग्स इलेवन पंजाब ने केकेआर के खिलाफ टॉस जीता, पहले फील्डिंग का फैसला
  • हेलीकॉप्टर घोटाले में जांच उन लोगों की भूमिका पर केन्द्रित होगी जिनका नाम इटली...
  • भारत द्वारा खरीदे गए हेलीकाप्टर का परीक्षण नहीं हुआ था क्योंकि वह उस समय विकास...
  • जॉब अलर्ट: SBI करेगा प्रोबेशनरी ऑफिसर के 2200 पदों पर भर्तियां
  • गायत्री परिवार के प्रणव पांड्या राज्यसभा के लिए मनोनीत: टीवी रिपोर्ट्स
  • सेंसेक्स 127.97 अंक गिरकर 25,101.73 पर और निफ्टी 7,706.55 पर बंद
  • टी-20 और वनडे रैंकिंग में टीम इंडिया लुढ़की
  • यूपी के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ सुप्रीम कोर्ट के जज बने। मप्र व...
  • बरेली में मेडिकल के छात्र का अपहरण, बदमाशो ने घर वालो से मांगी 1 करोड़ की फिरौती
  • राज्य सभा की अनुशासन समिति ने विजय माल्या की सदस्यता तत्काल खत्म करने की...
  • उत्तराखंड मामलाः केंद्र ने SC में कहा, बहुमत परीक्षण पर कर रहे विचार, शुक्रवार को...

मुर्सी ने आखिरकार लोगों को संबोधित किया, घोषणा के बारे में बोले

काहिरा, एजेंसी First Published:30-11-2012 11:41:18 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
मुर्सी ने आखिरकार लोगों को संबोधित किया, घोषणा के बारे में बोले

मिस्र में एक हफ्ते की राजनीतिक अशांति और इस्लामवादियों एवं अन्य समूहों के बीच संभावित टकराव की आशंका के बाद राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी ने अंतत: लोगों को संबोधित किया और उस संवैधानिक घोषणा के बारे में बोले, जिससे तनाव उत्पन्न हो गया था।

मुर्सी ने बीती रात सरकारी टेलीविजन पर प्रसारित साक्षात्कार में कहा कि घोषणा वर्तमान अवधि की जरूरतों को पूरा करती है और जनमत संग्रह से संविधान के मंजूर होते ही खत्म हो जाएगी। मुर्सी ने घोषित आदेश के जरिए नया संविधान लागू होने और नई संसद चुने जाने तक अपने सभी फैसलों को न्यायिक समीक्षा के दायरे से बाहर कर दिया था।

राष्ट्रपति ने साक्षात्कार में कहा कि उन्होंने राष्ट्र में व्याप्त खतरे को समझा और स्थिति से निपटने के लिए काफी सावधानी से शल्य चिकित्सा की। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों का कहना है कि मुर्सी लोगों को इस बात के लिए बाध्य कर रहे हैं कि वे या तो इस्लामवादियों द्वारा तैयार किए गए संविधान को स्वीकार करें या फिर ऐसे राष्ट्रपति के साथ रहें, जो इस घोषणा के चलते शक्तिशाली तानाशाह होगा।

मुस्लिम ब्रदरहुड के मुहम्मद बाडी़ ने आरोप लगाया कि पूर्व शासन के बचे हुए तत्व लोकतंत्र की स्थापना में विलंब करने के लिए संकट पैदा कर रहे हैं और देश के नए संविधान के पूर्ण होने की प्रक्रिया में बाधा डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत ससंद को भंग करने से हुई, जो स्वतंत्र चुनाव से अस्तित्व में आई थी और जिसमें तीन करोड़ लोग शामिल हुए। अब वे संविधान सभा को भंग करना चाहते हैं।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
उथप्पा और रसेल ने दिलाई केकेआर को जीत उथप्पा और रसेल ने दिलाई केकेआर को जीत
कप्तान गौतम गंभीर और रोबिन उथप्पा की शतकीय साझेदारी और बाद में आंद्रे रसेल की उम्दा गेंदबाजी से कोलकाता नाइटराइडर्स ने आज यहां किंग्स इलेवन पंजाब पर सात रन से जीत दर्ज की आईपीएल नौ की अंकतालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया।