Image Loading
बुधवार, 28 सितम्बर, 2016 | 12:20 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • लोढ़ा पैनल ने सुप्रीम कोर्ट को कहा, बीसीसीआई हमारे सुझावों और दिशा निर्देशों का...
  • पाकिस्तानी कलाकारों फवाद, माहिरा और अली जफर के भारत छोड़ने पर बॉलीवुड सितारों...
  • टीम इंडिया में गंभीर की वापसी, भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट के टिकट होंगे सस्ते। इसके...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली-NCR वालों को गर्मी से नहीं मिलेगी राहत। रांची, लखनऊ और देहरादून...
  • भविष्यफल: तुला राशि वालों को आज परिवार का भरपूर सहयोग मिलेगा, मन प्रसन्न रहेगा।...
  • हिन्दुस्तान सुविचार: जीवन के बुरे हादसे या असफलताओं को वरदान में बदलने की ताकत...
  • सार्क में हिस्सा नहीं लेंगे पीएम मोदी, गंभीर की दो साल बाद टीम इंडिया में वापसी,...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

प्रधानमंत्री बनने के काबिल हैं सुषमा स्वराज: दिग्विजय सिंह

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-2012 09:59:11 AMLast Updated:07-12-2012 03:01:24 PM
प्रधानमंत्री बनने के काबिल हैं सुषमा स्वराज: दिग्विजय सिंह

कांग्रेस में प्रधानमंत्री पद के बारे में सोनिया गांधी का निर्णय अंतिम बताते हुए पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा कि इस विषय पर आदेश हो जाएगा और उसका पालन हो जाएगा। साथ ही, कांग्रेस महासचिव ने सुषमा स्वराज को भाजपा में प्रधानमंत्री पद के लिए स्वीकार्य नेता बताया।

एक न्यूज चैनल द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान दिग्विजय सिंह ने सोनिया का नाम लिए बिना कहा कि कांग्रेस पार्टी में प्रधानमंत्री पद के लिए एक अनार, सौ बीमार जैसी कोई स्थिति नहीं है। इस विषय पर आदेश आ जाएगा और उसका पालन हो जाएगा।

इस सत्र में हिस्सा ले रही भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि संसदीय प्रणाली में नेता चुनने का हक चुनाव के बाद नये निर्वाचित सदस्यों को होता है। ब्रिटेन में ‘शैडो प्राइम मिनिस्टर’ का चलन है। सुषमाजी को शैडो प्राइम मिनिस्टर होना चाहिए था, लेकिन गुजरात में उन्होंने (सुषमा ने) किसी और व्यक्ति (नरेन्द्र मोदी) का नाम ले लिया।

दिग्विजय ने कहा कि आज की राजनीति में जहां विचारों में इतना मतभेद है, ऐसी स्थिति में उदारवादी चेहरा देखा जाता है। अटलजी भाजपा में ऐसा ही एक चेहरा थे। आज के समय में कोई ऐसा चेहरा भाजपा में है तो वह सुषमाजी का है। उन्होंने कहा कि वह अन्य दलों को भी स्वीकार्य हो सकती हैं क्योंकि उन पर संघ का तमगा नहीं लगा हुआ है और उनका रूख उदारवादी है।

बहरहाल, सुषमा ने हास्य विनोद के अंदाज में कहा कि लड़ाई करा देना दिग्विजय सिंह की पुरानी आदत है। ऐसी लडाई उन्होंने आज भी कराने का प्रयास किया जो किसी की अधिक बड़ाई के माध्यम से भी कराई जा सकती है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड