Image Loading दिल्ली पुलिस आयुक्त ने लिखा गृह मंत्रालय को पत्र - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 29 अप्रैल, 2016 | 21:24 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: गुजरात लायंस ने टॉस जीता, राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस को पहले बल्लेबाजी का...
  • बिहार के आरा में कपड़े के मॉल में धमाका, कई लोग घायल: टीवी रिपोर्ट्स
  • अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला: प्रवर्तन निदेशालय ने पूर्व सेना अध्यक्ष एस पी त्यागी...
  • क्लिक करें और पढ़ें खबर-40 हजार भारतीयों को जापान देगा नौकरी
  • पीएम की शैक्षणिक योग्यताओं के बारे में सभी आरटीआई आवेदनों का जवाब दें डीयू और...
  • मुरादाबाद: नारंगपुर गांव में किसान बोरवेल में गिरा, रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू
  • अगस्ता वेस्टलैंड पर बोले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, देश को गुमराह कर रही है...
  • EPF पर 8.8 फीसदी ब्याद मिलेगा, ब्याज दर 8.7 से बढ़कर 8.8 फीसदी की गई: टीवी रिपोर्ट्स
  • EXCLUSIVE: दुनिया के सबसे अधिक अनपढ़ पाकिस्तान में हैंः तारेक

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने लिखा गृह मंत्रालय को पत्र

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:26-12-2012 02:14:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

सामूहिक बलात्कार की शिकार लड़की का बयान दर्ज करने में पुलिस हस्तक्षेप के संबंध में मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की ओर से हमले झेल रहे दिल्ली पुलिस आयुक्त नीरज कुमार ने आज गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर आरोपों का खंडन किया है।
     
अपने पत्र में कुमार ने बलात्कार पीड़िता का बयान दर्ज करने वाली एसडीएम पर पुलिस की ओर से अपने प्रश्न थोपे जाने और पूरी प्रक्रिया का वीडियोग्राफी कराने से इंकार करने के आरोपों का खंडन किया है।
     
पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिस ने कहा था कि लड़की का बयान दर्ज कर लिया जाए, क्योंकि हर गुजरते दिन के साथ उसकी हालत खराब हो रही है। कुमार ने कहा कि जांच पुलिस का काम था और पीडिम्ता को न्याय दिलाने के लिए वह बेहतर काम कर रही है।
     
इससे पहले मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे को पत्र लिख कर कहा था कि उपायुक्त (पूर्वी) बी़ एम़ मिश्र ने उन्हें बताया है कि एसडीएम उषा चतुर्वेदी का कहना है कि पीडिम्ता का बयान दर्ज करते वक्त वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने हस्तक्षेप किया।
     
इस बीच, गृह मंत्रालय ने आज कहा कि उसने इस विवाद पर तुरंत समुचित कार्रवाई करने का निर्णय लिया है।
    
अधिकारी ने ज्यादा विस्तार से जनकारी दिए कहा कि गृह मंत्रालय को दिल्ली की मुख्यमंत्री का शिकायत पत्र भी मिला है और पुलिस आयुक्त की ओर से आरोपों का खंडन करने वाला पत्र भी प्राप्त हुआ है। मंत्रालय ने दोनों पत्रों का आशय समझ लिया है और तुरंत समुचित कार्रवाई करने का निर्णय लिया है।
    
गौरतलब है कि रविवार 16 दिसंबर की रात चलती बस में 23 वर्षीय पैरा-मेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ था। सफदरजंग अस्पताल में भर्ती छात्रा की हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल 9: पुणे को लगा शुरुआती झटकाआईपीएल 9: पुणे को लगा शुरुआती झटका
राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस को गुजरात लायंस के खिलाफ आईपीएल मैच में शुरुआती झटका लग गया है। समाचार लिखे जाने तक पुणे ने 9 ओवर में एक विकेट खोकर 70 रन बना लिए थे। अजिंक्य रहाणे 28 और स्टीवन स्मिथ 38 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे।