Image Loading चार्जशीट के ऊपरी पन्ने पर हत्या का आरोप गायब - LiveHindustan.com
गुरुवार, 05 मई, 2016 | 14:02 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • मेरठ: फूलबाग कालोनी से अपहृत महामंडलेश्वर राजेंद्र स्वरूप का शव मवाना में मिला,...
  • कीनन-रूबेन हत्याकांडः मुंबई की अदालत ने सभी चारों दोषियों को उम्रकैद की सजा...
  • केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, डीजल टैक्सी बैन से बीपीओ काल सेंटर बिजनेस...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

चार्जशीट के ऊपरी पन्ने पर हत्या का आरोप गायब

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-01-2013 11:05:13 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

दिल्ली पुलिस ने शनिवार को अदालत में स्वीकार किया कि गैंगरेप के बाद हत्या मामले में आरोपियों के खिलाफ वह हत्या के गंभीर आरोप का जिक्र करना भूल गई। उसने इसे टाइपिंग की गलती होने का दावा करते हुए तवज्जो नहीं दिया।

पुलिस ने मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट नम्रिता अग्रवाल से कहा कि वह आरोपपत्र में धारा 302 का जिक्र करना भूल गई। यह टाइप में गलती का मामला है। आरोपपत्र पर गौर करने के कुछ मिनट के अंदर टाइप की यह गलती सामने आई। लोक अभियोजक राजीव मोहन ने कहा कि आरोपपत्र में हमने धारा 302 का जिक्र किया है और अंतिम हिस्से में भी इसका जिक्र है जहां हमने हत्या और अन्य धाराओं के तहत सुनवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि गलती में सुधार के लिए हम आवेदन देना चाहते हैं। यह टाइपिंग की गलती का मामला है।

बहरहाल, न्यायाधीश ने कहा कि इस तरह के किसी आवेदन की जरूरत नहीं है क्योंकि पूरे आरोपपत्र को संज्ञान में लिया जाएगा। जिन पांच आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया है उनमें राम सिंह, उसका भाई मुकेश और उसके सहयोगी पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर हैं।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट