class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शर्म भी आती है और दुख भी होता है: शीला दीक्षित

शर्म भी आती है और दुख भी होता है: शीला दीक्षित

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने 23 साल की लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार को बतौर प्रशासक अपने लिए शर्मनाक घटना करार देते हुए पीड़िता की मौत पर गहरे दुख का इजहार किया है।
   
शीला ने लोगों से इसके साथ ही अपील की है कि वे शांति बनाए रखें। उन्होंने कहा कि इस तरह की वीभत्स घटना दोबारा नहीं हो, यह सुनिश्चित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी संवेदना परिवार के साथ है। मुझे बहुत पीड़ा हो रही है। लड़की का निधन बहुत दुखद घटना है। इसने हमारी अंतरात्मा को हिला दिया है।
   
बीते 16 दिसंबर को चलती बस में छह लोगों ने 23 साल की लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार करने के साथ ही उसके साथ हैवानियत का व्यवहार किया था। करीब एक पखवाड़े तक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ने के बाद आज इस पीड़िता ने तड़के सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में दम तोड़ दिया।
     
शीला ने कहा कि मुख्यमंत्री और दिल्ली का निवासी होने के तौर पर मेरे लिए यह एक शर्मनाक घटना है। हम सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि भविष्य में इस तरह की घटना दोबारा नहीं हो। मैं उसके लिए प्रार्थना करती हूं।
     
उन्होंने कहा कि इस बहादुर लड़की का गुजरना एक दुखद खबर है। दिल्ली की मुख्यमंत्री ने कहा कि उसने बड़ी बहादुरी से लड़ा और इस प्रक्रिया ने देश की अंतरात्मा को झकझोर दिया है। यह वक्त भाषण या बयान देने का नहीं है, बल्कि गहरी संवेदना का है।
     
उन्होंने कहा कि उसकी आत्मा को शांति मिले और भगवान परिवार एवं सभी लोगों को इस दुखद क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करे। मैं आशा करती हूं कि सभी लोग इससे सबके लेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि ऐसी वीभत्स घटनाएं दोबारा नहीं हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शर्म भी आती है और दुख भी होता है: शीला