Image Loading
शुक्रवार, 30 सितम्बर, 2016 | 01:54 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • उरी हमले में जख्मी जवान की दिल्ली आर्मी हॉस्पिटल में हुई मौत
  • इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन ने पाक अभिनेताओं और तकनीशियनों पर...
  • पाक विदेश मंत्रालय ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया: टीवी...
  • पुंछ में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, 2-3 आतंकियों को घेरा, एक जवान घायल:...
  • भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी 22 देशों के राजदूतों को दी: टीवी रिपोर्ट्स
  • जम्मू में एहतियातन सीमा से सटे गांव को खाली कराने का आदेश
  • सभी दलों की बैठक में DGMO ने कहा, जरूरत पड़ी तो हमले के लिए तैयार
  • पाकिस्तान के नकारने पर भारत सरकार जारी कर सकती है सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो:...
  • सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का बयान, कांग्रेस पार्टी...
  • बॉर्डर पर तैनात सभी सैनिकों की छुट्टियां हुई रद्द
  • एक और खुशखबरी: अंडर-18 हॉकी एशिया कप में भारत ने पाकिस्तान को 3-1 से हराया
  • सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर नार्थ ब्लाक में सर्वदलीय बैठक शुरू
  • भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, देश की...
  • सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले केजरीवाल, 'भारत माता की जय'
  • वाघा बार्डर पर बीटिंग रिट्रीट रद्द की गई। (ANI)
  • पाक नहीं मान रहा था इसलिए पीएम नरेंद्र मोदी ने देर रात लिया हमले का फैसला।
  • उरी हमले का बदलाः हेलीकॉप्टर से LOC पारकर भारतीय सेना ने किया हमला, कई आतंकी...
  • भारतीय सेना ने LOC पारकर भीमबेर, केल, लिपा और हॉटस्प्रिंग सेक्टर में घुसकर आतंकी...
  • पीएम मोदी ने शाम 4 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई, पाकिस्तान से तनाव को लेकर होगी और...
  • भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक की खबर के बाद सेंसेक्स में 555 अंकों और निफ्टी में...
  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हमले की निंदा की। कहा, हम अपने देश की...
  • भारत ने कल पाकिस्तान से लगे एलओसी में किया सर्जिकल स्ट्राइक, लांचिंग पैड को...
  • डीजीएमओ रणबीर सिंह की प्रेस कांफ्रेंस: एलओसी पर एक महीने में पाकिस्तान की ओर से 20...
  • मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) दर्जे पर होने वाली पीएम की समीक्षा बैठक टली, अगले हफ्ते होगी...
  • यूपी: सोनभद्र में रिहंद बांध के 11 दरवाजे खोले गए, निचले इलाके में रहने वाले...
  • करीना कपूर ने किया अपने बारे में एक बड़ा खुलासा, इसके अलावा पढ़ें बॉलीवुड जगत की...
  • बाजार अपडेटः 168 अंकों की तेजी के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 28,454 पर। निफ्टी भी 47...
  • पुजारा को लेकर अलग-अलग है कोच कुंबले और कोहली की सोच, इसके अलावा पढ़ें क्रिकेट और...
  • कर्क राशि वालों का आज का दिन भाग्यशाली साबित होगा, जानिए आपके सितारे क्या कह रहे...
  • वेटर, बस कंडक्टर से बने सुपरस्टार, क्या आपमें है ऐसा कॉन्फिडेंस? पढ़ें ये सक्सेस...
  • सवालों के घेरे में सीबीआई, रेल कर्मचारियों को सरकार का बड़ा तोहफा, सुबह की 5 खास...

महिला उत्पीड़न मामलों की त्वरित सुनवाई हो: कबीर

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-01-2013 05:19:00 PMLast Updated:07-01-2013 10:52:47 PM
महिला उत्पीड़न मामलों की त्वरित सुनवाई हो: कबीर

राजधानी में चलती बस में पैरा-मेडिकल छात्रा के साथ हुए नृशंस सामूहिक बलात्कार को लेकर देश में बचे बवाल की पृष्ठभूमि में उच्चतम नयायालय के मुख्य न्यायाधीश अल्तमश कबीर ने सभी उच्च न्यायालयों से बलात्कार और महिला उत्पीड़न के मामलों की सुनवाई को प्राथमिकता देने को कहा है।

न्यायमूर्ति कबीर ने देश के सभी उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों को पत्र लिखकर महिला उत्पीड़न और बलात्कार संबंधी मामलों की त्वरित सुनवाई सुनिश्चित करने को कहा है। न्यायाधीश ने कहा कि उच्च न्यायालयों एवं निचली अदालतों में ऐसे मामलों को सर्वाधिक प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

न्यायमूर्ति कबीर ने लिखा है कि महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न के अनेक मामले लंबित है और हाल के सालों में ऐसे मामलों की संख्या काफी बढ़ी है। उन्होंने लिखा है कि ऐसे मामलों में बढ़ोत्तरी के लिए सुनवाई में होने वाली देरी भी एक प्रमुख कारण हो सकता है।

उन्होंने लिखा है कि अब समय आ गया है कि ऐसे मामलों की त्वरित सुनवाई हो, अन्यथा महिलाओं के खिलाफ हिंसा एवं उत्पीड़न के मामलों को रोकने के प्रयासों में हम असफल हो जाएंगे।

मुख्य न्यायाधीश ने लिखा है कि महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मामलों की सुनवाई के लिए त्वरित अदालत गठित करने का कदम तत्काल उठाया जाना चाहिए। इस बीच मौजूदा न्यायिक अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी दी जा सकती है, ताकि नई अदालतों के गठन एवं रिक्तियां भरे जाने तक इन मामलों का निपटारा सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने लिखा है कि उच्च न्यायालयों एवं अधीनस्थ अदालतों में बडी संख्या में पद रिक्त हैं और यह आवश्यक है कि इन रिक्तियों को यथाशीघ्र भरा जाए। न्यायमूर्ति कबीर ने लिखा है कि आप यह सुनिश्चित करें कि उच्च न्यायालयों एवं जिला अदालतों के स्तर पर महिला उत्पीड़न मामलों की सुनवाई त्वरित आधार पर की जाए।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
क्रिकेट स्कोरबोर्ड