Image Loading
गुरुवार, 26 मई, 2016 | 10:15 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • दिल्ली के अति सुरक्षा वाले इलाके विजय चौक में दिखी नील गाय, वन अधिकारी मौके पर
  • कैंप में आर्म्स ट्रेनिंग नहीं, आतंकवाद से लड़ने की ट्रेनिंग दी जा रही थी:...
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 160 अंक चढ़कर 26,041 पर खुला, निफ़्टी 7,967
  • दिल्ली-एनसीआर में मौसम का हाल: आज न्यूनतम तापमान 27 डिग्री, अधिकतम 40 डिग्री होने की...
  • मोदी सरकार के 2 सालः 14 विवाद, जिन पर हुआ हंगामा
  • कैसे रहे मोदी सरकार के दो साल? जानें आम जनता और एक्सपर्ट्स की राय

30 साल का हुआ इंटरनेट

लंदन, एजेंसी First Published:01-01-2013 09:18:18 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
30 साल का हुआ इंटरनेट

रोजाना अरबों लोगों द्वारा उपयोग में लाए जाने वाले क्रांतिकारी संचार माध्यम इंटरनेट ने मंगलवार एक जनवरी 2013 को तीस वर्ष पूरा कर लिया। समाचार पत्र टेलीग्राफ के मुताबिक पुरानी नेटवर्किंग प्रणाली को पूरी तरह से हटाकर कम्प्यूटर नेटवर्क ने औपचारिक रूप से एक जनवरी 1983 को काम करना शुरू किया था।

उस दिन अमेरिका के रक्षा विभाग द्वारा संचालित अर्पानेट नेटवर्क की जगह सम्पूर्ण तौर पर इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट (आईपीएस) संचार प्रणाली के उपयोग को अपना लिया गया। इसी से आगे चलकर वर्ल्ड वाइड वेव (डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू) मार्ग प्रशस्त हुआ।

वेल्स के वैज्ञानिक डोनाल्ड डेविस की डिजाइन पर आधारित अर्पानेट नेटवर्क ने 1960 के दशक के आखिरी वर्षों में सैन्य परियोजना के तौर पर काम करना शुरू किया था। कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय और स्टैनफोर्ड रिसर्च इंस्टीटय़ूट जैसे कई संस्थानों ने इसकी विकास प्रक्रिया में मदद की।

1973 में आईपीएस और ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल प्रौद्योगिकी पर काम शुरू हुआ। इसे इसलिए तैयार किया गया क्योंकि पुराने नेटवर्क कंट्रोल प्रोग्राम (एनसीपी) में खामियां थीं। ब्रिटेन के कम्प्यूटर वैज्ञानिक टिम बर्नर्स-ली ने बाद में 1989 में हाईपरटेक्स्ट डॉक्यूमेंट में इंटरनेट प्रोटोकॉल का उपयोग किया, जिसे वर्ल्ड वाइड वेव के नाम से जाना जाता है।

 

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
VIDEO: RCB के जीत के जश्न में चोटिल डिविलियर्स के चेहरे से आया खूनVIDEO: RCB के जीत के जश्न में चोटिल डिविलियर्स के चेहरे से आया खून
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) को खराब शुरुआत के बावजूद अकेले दम पर आईपीएल-9 के फाइनल में ले जाने वाले ए बी डिविलियर्स को टीम का आक्रामक जश्न कुछ महंगा पड़ गया और उनके चेहरे से खून तक निकलने लगा।