Image Loading
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 20:58 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: दूसरे दिन का खेल खत्म, पहली पारी में भारत का स्कोर 146/1
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...

दुष्कर्म का दूसरा आरोपी गिरफ्तार, जांच अधिकारी नियुक्त

रायपुर, एजेंसी First Published:07-01-2013 03:29:17 PMLast Updated:07-01-2013 03:44:51 PM
दुष्कर्म का दूसरा आरोपी गिरफ्तार, जांच अधिकारी नियुक्त

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में आदिवासी छात्राओं के साथ कथित रूप से दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने दूसरे आरोपी शिक्षाकर्मी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, राज्य सरकार ने मामले की जांच के लिए महिला आईपीएस अधिकारी को नियुक्त किया है।

पुलिस अधीक्षक राहुल भगत ने बताया कि जिले के नहरपुर थाना क्षेत्र में आदिवासी बालिका प्री-मैट्रिक छात्रावास की बच्चियों का यौन शोषण करने के मामले में पुलिस ने छात्रावास के दूसरे आरोपी शिक्षाकर्मी मन्नू राम गोटा (24) को गिरफ्तार कर लिया है।

भगत ने बताया कि इस मामले के बाद गोटा फरार हो गया था तथा वह कुरूभाट के जंगल में जाकर छिप गया था। पुलिस ने कल रात उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस गोटा से पूछताछ कर रही है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि छात्रावास में लगभग 40 छात्राएं रहती हैं और अभी तक नौ छात्राओं के साथ अनाचार करने की पुष्टि हुई है। वहीं अन्य छात्रों की भी चिकित्सकीय जांच कराई जा रही है।

वहीं, आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि राज्य के पुलिस महानिदेशक रामनिवास ने पुलिस मुख्यालय से एक वरिष्ठ महिला आईपीएस अधिकारी नीतू कमल को पूरे मामले की विस्तत जांच की जिम्मेदारी सौंपी है और उन्हें टना स्थल के लिए भेजा है। नीतू कमल जांच के लिए रवाना हो गई हैं।

अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में कार्रवाई करते हुए जिला कलेक्टर अलरमेल मंगई डी ने संबंधित शिक्षाकर्मी, आश्रम अधीक्षक बबीता मरकाम और चौकीदार को बर्खास्त कर दिया है।

भगत ने बताया कि कलेक्टर ने इस मामले की सूचना मिलते ही महिला अधिकारियों की जांच टीम बनाकर टनास्थल पर भेजा था। जांच टीम ने सूचना सही पाए जाने पर तत्काल संबंधित थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी थी।

कलेक्टर ने क्षेत्र के नागरिकों से अपील की है कि वे अपने आस-पास अगर इस प्रकार की संदिग्ध गतिविधि नजर आए तो निकटवर्ती पुलिस थाने को अथवा जिला प्रशासन के अधिकारियों को तत्काल सूचित करें, जिससे ऐसे मामलों में तत्परता से कार्रवाई की जा सके। जिला प्रशासन ने सभी पुलिस थानों से भी कहा है कि ऐसे मामलों की जानकारी मिलते ही दोषियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जाए।

राज्य के पुलिस महानिदेशक रामनिवास ने कहा है इस टना में गिरफ्तार दोनों आरोपियों के साथ-साथ जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इधर, राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इस मामले की निंदा करते हुए राज्य शासन पर राज्य में बच्चियों को सुरक्षा नहीं दे सकने का आरोप लगाया है तथा कांग्रेस की वरिष्ठ नेता गंगा पोटाई की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय जांच दल बनाया है।

कांग्रेस की महिला नेत्री की यह टीम घटनास्थल पर जाकर बच्चियों और उनके परिजनों से बातचीत कर अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस को सौंपेगी।

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में रविवार को प्राथमिक कक्षा की आदिवासी छात्राओं का यौन शोषण करने का मामला सामने आया था। इस घटना की जानकारी मिलने ही पुलिस ने छात्रावास के चौकीदार दीनाराम (23) को गिरफ्तार कर लिया था तथा रात में आरोपी शिक्षाकर्मी को गिरफ्तार किया गया।

छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्रों में बच्चियों की शिक्षा के लिए छात्रावासों की व्यवस्था की गई है। इन छात्रावासों में बच्चियों की शिक्षा और आवास की पूरी सुविधाएं सरकार मुहैया कराती है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड