Image Loading
गुरुवार, 29 सितम्बर, 2016 | 08:49 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पुजारा को लेकर अलग-अलग है कोच कुंबले और कोहली की सोच, इसके अलावा पढ़ें क्रिकेट और...
  • कर्क राशि वालों का आज का दिन भाग्यशाली साबित होगा, जानिए आपके सितारे क्या कह रहे...
  • वेटर, बस कंडक्टर से बने सुपरस्टार, क्या आपमें है ऐसा कॉन्फिडेंस? पढ़ें ये सक्सेस...
  • सवालों के घेरे में सीबीआई, रेल कर्मचारियों को सरकार का बड़ा तोहफा, सुबह की 5 खास...

फेमा संशोधन का दोनों सदनों से पारित होना आवश्यक: भाजपा

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:03-12-2012 02:13:11 PMLast Updated:03-12-2012 02:14:47 PM
फेमा संशोधन का दोनों सदनों से पारित होना आवश्यक: भाजपा

केंद्र सरकार के दावे को खारिज करते हुए मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को कहा कि विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) का संसद के दोनों सदनों से पारित होना आवश्यक है।

भाजपा की यह प्रतिक्रिया केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ द्वारा एक टेलीविजन कार्यक्रम में यह कहे जाने के बाद आई है कि फेमा संशोधन का संसद के एक ही सदन से पारित होना काफी होगा।

भाजपा नेता एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि यदि एक ही सदन से पारित हो जाना काफी है तो दो सदनों की आवश्यकता क्या है? यह संसद का अपमान है। संसद लोकसभा और राज्यसभा दोनों को मिलाकर बनता है। दोनों समान रूप से महत्वपूर्ण हैं। संसदीय कार्य मंत्री को संसद के बारे में कुछ जानकारी होनी चाहिए।

भाजपा ने केंद्र सरकार पर संसद में समर्थन जुटाने के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

नायडू ने कहा कि बंद दरवाजे की गतिविधियां हो रही हैं। उनके पास सीबीआई है। सीबीआई एक बार फिर सक्रिय है और सरकार के लिए समर्थन जुटाने की कोशिश कर रही है। हमारे पास इस बारे में जानकारी है।

कमलनाथ के इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि सरकार के पास संख्या बल है, नायडू ने कहा, ''यदि ऐसा है तो उन्होंने संसद का वक्त क्यों बर्बाद किया। फेमा पर मतदान उन सभी राजनीतिक पार्टियों के लिए अग्नि परीक्षा की तरह होगा, जिन्होंने खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के खिलाफ भारत बंद में हिस्सा लिया था। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि कौन कहां है?''

उल्लेखनीय है कि खुदरा क्षेत्र में एफडीआई की अनुमति के लिए फेमा में संशोधन आवश्यक है। यह संशोधन हालांकि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया जाता है, लेकिन इसे संसद से सहमति मिलना आवश्यक है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड