Image Loading
सोमवार, 27 मार्च, 2017 | 14:05 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • टीवी गॉसिप: संसद में उठा कपिल-सुनील विवाद, यहां पढ़ें, टीवी की दुनिया की 10 बड़ी...
  • #INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया को लगा तीसरा झटका, मैट रेनशॉ 8 रन बनाकर आउट, स्कोर 31/3
  • #INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया को लगा दूसरा झटका, स्टीव स्मिथ 17 रन बनाकर आउट, स्कोर 31/2
  • स्वाद-खजाना: घर में ही आसानी से बनाएं काजू-पिस्ता आइसक्रीम, क्लिक कर पढ़ें...
  • #INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया को लगा पहला झटका, डेविड वॉर्नर 6 रन बनाकर आउट, स्कोर 10/1
  • वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में जीएसटी बिल पेश किया
  • टॉप 10 न्यूज: आम आदमी पार्टी को झटका, विधायक वेद प्रकाश बीजेपी में हुए शामिल, अन्य...
  • #INDvsAUS: टीम इंडिया की पहली पारी 332 रनों पर सिमटी, भारत को 32 रनों की बढ़त
  • सरकार वेलफेयर स्कीम का लाभ देने के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य नहीं बना सकती:...
  • #INDvsAUS: रिद्धिमान साहा 31 रन बनाकर आउट, भारत का स्कोर 318/9
  • #INDvsAUS: भुवनेश्वर कुमार बिना खाता खोले आउट, भारत का स्कोर 318/8
  • #INDvsAUS: रविंद्र जडेजा 63 रन बनाकर आउट, भारत का स्कोर 317/7
  • स्पोर्ट्स-स्टार: भारत को मिली बढ़त, साहा और जडेजा क्रीज पर जमे, यहां पढ़ें,...
  • #INDvsAUS: रविंद्र जडेजा ने जड़ा टेस्ट क्रिकेट में अपना 7वां अर्धशतक, भारत का स्कोर 302/6
  • हिन्दुस्तान Jobs: इस बैंक ने सेक्रेटेरियल ऑफिसर और डीलर के पदों पर मंगाए आवेदन,...
  • बॉलीवुड मसाला: दूसरे दिन 'फिल्लौरी' ने पकड़ी रफ्तार, कमाए इतने करोड़, यहां पढ़ें,...
  • भारतीय नागरिकता मिलने के दो दिन बाद ही शॉन टैट ने क्रिकेट के हर फॉरमैट से...
  • #INDvsAUS: तीसरे दिन का खेल शुरू, टीम इंडिया का स्कोर 248/6, रिद्धमान साहा (10) और रविंद्र...
  • टॉप 10 न्यूज: यूपी में आज भी हड़ताल पर होंगे मीट और मछली व्यापारी, सुबह 9 बजे तक की...
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का विशेष लेख- पिछड़ता...
  • पंजाब: गुरदासपुर में BSF जवानों ने पहाड़ीपुर पोस्ट के पास एक पाकिस्तानी...
  • हेल्थ टिप्स: सीढ़ी चढ़ने से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा, क्लिक कर पढ़ें
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और लखनऊ में होगी तेज धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों के आय में वृद्धि होगी, अन्य राशियों का हाल जानने के...
  • सक्सेस मंत्र: अवसर जरूर द्वार खटखटाते हैं, बस पहचानना आना चाहिए, क्लिक कर पढ़ें
  • टॉप 10 न्यूज: कश्मीर में आतंक-PDP मंत्री के घर पर हमला, दो पुलिसकर्मी हुए घायल, अन्य...

धौनी को कप्तानी से हटाने की मांग तेज

नागपुर, एजेंसी First Published:17-12-2012 09:28:42 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
धौनी को कप्तानी से हटाने की मांग तेज

इंग्लैंड के हाथों सोमवार को सीरीज में मिली हार के बाद भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी को बर्खास्त करने की मांग तेज हो गई। महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर के अलावा कई पूर्व क्रिकेटर जैसे पूर्व मुख्य चयनकर्ता के श्रीकांत, अतुल वासन और अब्बास अलीग बेग उन्हें हटाने की बात कर रहे हैं। पिछले 18 महीनों में भारत के खराब प्रदर्शन के बाद ये लोग टेस्ट कप्तान बदलना चाहते हैं और उनकी जगह विराट कोहली का नाम सुझाया जा रहा है।

इंग्लैंड ने नागपुर में चौथा और अंतिम टेस्ट ड्रा कराके 2-1 की जीत के साथ भारत में 28 बरस बाद टेस्ट सीरीज जीती। गावस्कर ने इसके बाद कहा कि समय आ गया है कि चयनकर्ता भविष्य पर ध्यान दें क्योंकि धौनी सीरीज में लय में नहीं दिखे। पूर्व भारतीय कप्तान गावस्कर ने कहा कि इस टेस्ट के चौथे दिन तक मैं कहता रहा कि महेंद्र सिंह धौनी का कोई विकल्प नहीं है लेकिन विराट के मुश्किल हालात में शतक जड़ने के बाद मुझे लगता है कि उसने अपने बारे में अच्छी चीज खोज ली है। मुझे लगता है कि वह जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार है।

गावस्कर ने कहा कि मुझे लगता है कि इसकी ओर सकारात्मक तरीके से देखा जाना चाहिए क्योंकि यहीं भविष्य है। श्रीकांत का मानना है कि धौनी कप्तानी के भार के बिना ज्यादा बेहतर साबित हो सकता है। श्रीकांत ने कहा कि धौनी की कप्तानी नीरस हो गई है और वह नहीं जान पा रहा है कि जब चीजें हाथ से छूट रहीं हैं तो क्या करना है। उसे अब से टेस्ट कप्तान नहीं होना चाहिए। अगर मैं चयनकर्ताओं का अध्यक्ष होता तो मैं धौनी को विकेटकीपर और बल्लेबाज के रूप में टीम में चुनता।

श्रीकांत ने कहा कि मैं धौनी को विकेटकीपर और बल्लेबाज इसलिए चुनता क्योंकि उसका क्रिकेट को दिया गया योगदान काफी अहम है। मुझे लगता है कि अगर वह कप्तानी नहीं करेगा तो टीम को ज्यादा बेहतर योगदान दे सकता है। पूर्व क्रिकेटर अब्बास अली बेग ने भी कप्तानी में बदलाव की मांग की और कहा कि कोहली को यह जिम्मेदारी देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें भविष्य के बारे में सोचना होगा और इसी के अनुसार योजना बनानी होगी।

धौनी को 2007 विश्व टवेंटी20 चैम्पियनशिप जीतने के बाद कैप्टन कूल पुकारा जाने लगा, लेकिन पिछले दो साल में विदेशी सरजमीं पर टेस्ट में खराब प्रदर्शन से उन पर सवाल उठने लगे। इंग्लैंड के हाथों घरेलू सीरीज गंवाने से, मध्यक्रम बल्लेबाज राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण के संन्यास लेने के बाद भारत की बल्लेबाजी खामियां उजागर हो गईं।

धौनी ने कोलकाता टेस्ट में मिली हार के बाद कहा था कि मेरे लिए सबसे आसान चीज यह कहना होगी कि मैं कप्तानी छोड़ना चाहता हूं और इस टीम का हिस्सा बने रहना चाहता हूं। लेकिन यह जिम्मेदारी से भागने की बात होगी। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से दूसरे ही इस पर फैसला करेंगे। बीसीसीआई और प्रशासनिक लोग जो कप्तानी देखते हैं। पिछले दो साल में भारत का टेस्ट मैचों में जीतने का प्रतिशत 33.33 का है। इस दौरान खेले गए 22 टेस्ट में भारत ने महज सात जीते हैं, 10 में टीम को हार मिली है और पांच ड्रा रहे हैं। दिलचस्प बात है कि टीम कुछ समय पहले आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज थी। इन जीत में से ज्यादातर पांच जीत घरेलू सरजमीं पर मिली हैं। धौनी की अगुवाई में विदेशी सरजमीं पर टीम ने 13 में से आठ गंवाए हैं और पिछले दो साल में केवल दो जीत दर्ज की हैं।

पूर्व भारतीय स्पिनर बिशन सिंह बेदी ने भी धौनी को कप्तानी से हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि धौनी को खुद को भाग्यशाली मानना चाहिए कि वह अब भी वहां (कप्तान) है। अगर टाइगर पटौदी या सुनील गावस्कर ने इतने टेस्ट गंवा दिए होते तो वे इतने लंबे समय तक नहीं टिके रहते। बेदी ने कहा कि उसने कप्तान बने रहने के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया है। उसे विश्व कप जीत के बाद ही हटा देना चाहिए था। उन्होंने पूछा कि वह टेस्ट कप्तान नहीं है। आपको ऐसे कप्तान की जरूरत होती है जो अंतिम एकादश में अपने स्थान का दावेदार हो। मुझे बताइये कि उसके 99 रन टीम के किसी काम के थे।

बेदी का मानना है कि कोहली को टीम की कमान सौंपनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आप ऐसा नहीं कह सकते कि हम किसी अन्य खिलाड़ी को कप्तान नहीं बना सकते मैं विराट कोहली को कप्तान बनाऊंगा। उसके पास तेज क्रिकेटिया दिमाग है। आपको युवाओं पर भरोसा करना होगा। यह युवा खिलाड़ियों का खेल है। हम लंबे समय से उम्रदराज खिलाड़ियों को ढो रहे हैं।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड