Image Loading
शुक्रवार, 06 मई, 2016 | 03:24 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस ने दिल्ली डेयरडेविल्स को सात विकेट से हराया
  • सिंहस्थ नगरी उज्जैन में आंधी-बारिश, 7 की मौत, 90 घायल, पढ़े पूरी रिपोर्ट
  • खेतान ने यूरोपीय बिचौलियों से धन लेने की बात स्वीकारी, क्लिक करें
  • आईपीएल 9: दिल्ली डेयरडेविल्स ने राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस के सामने 163 रन का लक्ष्य...
  • आईपीएल 9: राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ टॉस जीता, पहले...
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के छठे और अंतिम चरण में 84.24 प्रतिशत मतदान: निर्वाचन...
  • यूपी बोर्ड का हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट 15 मई को आएगा।
  • अन्नाद्रमुक ने स्कूटर मोपेड खरीदने के लिए महिलाओं को 50 प्रतिशत सब्सिडी देने,...
  • अन्नाद्रमुक ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में सब के लिए 100...
  • तमिलनाडुः अन्नाद्रमुक ने सभी राशन कार्ड धारकों को मुफ्त मोबाइल फोन देने का...
  • मध्यप्रदेश: सिंहस्थ कुंभ में तेज बारिश और आंधी से गिरे पांडाल, 4 की मौत
  • अगस्ता वेस्टलैंड मामला: पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के तीनों करीबी...
  • सेंसेक्स 160.48 अंक की बढ़त के साथ 25,262.21 और निफ्टी 28.95 अंक चढ़कर 7,735.50 पर बंद
  • वाईस एडमिरल सुनील लांबा होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, 31 मई को संभालेंगे पद
  • यूपी सरकार ने केंद्र सरकार से बुंदेलखंड के लिए पानी के टैंकर मांगें-टीवी...
  • स्टिंग ऑपरेशन: हरीश रावत को सीबीआई ने सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया: टीवी...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

तारों को तेजी से निगल रहा है ब्लैक होल

वाशिंगटन, एजेंसी First Published:03-04-2012 04:29:56 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
तारों को तेजी से निगल रहा है ब्लैक होल

ब्लैक होल तेजी से बाइनरी (डबल) स्टार सिस्टम के तारों को निगल रहा है, जिससे इसका आकार आने वाले वर्षों में बड़ा हो सकता है।

यह दावा एक नए खगोलशास्त्रीय अध्ययन में किया गया है। हार्वर्ड-स्मिथसोनियमन सेंटर फॉर एस्ट्रोफिजिक्स (सीएफए) के स्कॉट केनयन ने कहा कि ब्लैक होल तेजी से तारों को निगल रहा और अगले एक अरब वर्षो में इसका आकार दोगुना बड़ा हो सकता है। मानवीय मानकों के अनुसार यह हालांकि लम्बी अवधि जान पड़ती है, लेकिन आकाशगंगा के इतिहास में यह तेजी से हो रहा है।

यह अध्ययन रिपोर्ट 'द एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स' में प्रकाशित हुई है। यूनीवर्सिटी ऑफ उटाह के मुख्य अध्ययनकर्ता बेंजामिन ब्रोमले ने कहा कि मुझे लगता है कि ब्लैक होल के आकार में वृद्धि का यह प्रमुख तरीका बन गया है।

अध्ययनकर्ताओं का काम वर्ष 2005 में सीएफए के ही अंतरिक्ष विज्ञानियों की एक टीम के अध्ययन के आगे की कड़ी है, जिसका नेतृत्व वारेन ब्राउन ने किया था। ब्राउन के नेतृत्व में सीएफए के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने हापरवेलोसिटी तारों का अध्ययन किया था, जो आकाशगंगा में तेजी से भ्रमण करता है और ब्लैक होल में समाने से बच निकलता है।

हाइपरवेलोसिटी तारे बंदूक की गोलियों की तुलना में हजारों गुना अधिक तेजी से चल सकते हैं। इन तारों की उत्पत्ति भी बाइनरी (डबल) स्टार सिस्टम से ही होती है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
कोहली-तेंदुलकर के बीच तुलना अनुचित है: युवराजकोहली-तेंदुलकर के बीच तुलना अनुचित है: युवराज
अनुभवी बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह को लगता है कि भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली इस पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं लेकिन उनकी तुलना सचिन तेंदुलकर से करना अनुचित है क्योंकि दिल्ली के इस क्रिकेटर को मास्टर ब्लास्टर की बराबरी करने के लिए काफी मेहनत करनी होगी।