Image Loading
मंगलवार, 31 मई, 2016 | 01:50 | IST
 |  Image Loading

कर्नाटक: भाजपा ने टाला बागियों पर कार्रवाई का फैसला

बेलगाम (कर्नाटक), एजेंसी First Published:12-12-2012 09:13:43 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
कर्नाटक: भाजपा ने टाला बागियों पर कार्रवाई का फैसला

कर्नाटक में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने 14 विधायकों और सात विधानपरिषद सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई का फैसला बुधवार को टाल दिया। इन विधायकों ने पूर्व मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा द्वारा गठित की गई कर्नाटक जनता पार्टी (कजपा) का खुलकर समर्थन किया।

प्रदेश भाजपा के नेताओं ने फैसला किया कि वे इस सम्बंध में केंद्रीय नेतृत्व को लिखेंगे और पूछेंगे कि बागियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाए जिससे यह संदेश जाए कि भाजपा अनुशासन कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

येदियुरप्पा ने जिस दिन अपनी पार्टी गठित की थी उस दिन इन बागियों ने हावेरी में आयोजित कार्यक्रम में येदियुरप्पा के साथ मंच साझा किया था।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के. एस. ईश्वरप्पा ने आला नेताओं की एक बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ''हमने इस मसले पर चर्चा की। कल या परसों हम इस बारे में केंद्रीय नेतृत्व को लिखेंगे।''

बैठक में ईश्वरप्पा के अलावा मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार, गृह मंत्री आर. अशोका और पूर्व मुख्यमंत्री डी. वी. सदानंद गौड़ा शामिल थे।

यह पूछे जाने पर कि बार-बार की चेतावनी के बाद भी इन विधायकों ने येदियुरप्पा के साथ मंच साझा किया लेकिन इसके बावजूद भाजपा उन पर कड़ी कार्रवाई क्यों नहीं कर रही, ईश्वरप्पा ने कहा, ''भाजपा एक राष्ट्रीय पार्टी है और ऐसे मामलों में केंद्रीय नेतृत्व की मंजूरी आवश्यक है।''

उन्होंने कहा कि पार्टी का संसदीय बोर्ड एक या दो दिनों में बैठक कर कोई फैसला लेगा।

225 सदस्यीय राज्य विधानसभा में 14 बागियों सहित भाजपा विधायकों की कुल संख्या 118 है। कुछ बागियों ने धमकी दी है कि यदि उनके खिलाफ कार्रवाई की गई तो वे विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे देंगे और शेट्टार सरकार अल्पमत में आ जाएगी। राज्य में विधानसभा चुनाव मई 2013 में होने हैं।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
कुक ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्डकुक ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड
इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक ने आज यहां टेस्ट क्रिकेट में 10,000वां रन पूरा करते ही कई रिकार्ड अपने नाम किये जिनमें सबसे कम उम्र में इस मुकाम पर पहुंचने का रिकार्ड भी शामिल है जो अब तक भारतीय स्टार सचिन तेंदुलकर के नाम पर दर्ज था।