class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 11 हुई

बिहार की राजधानी पटना में अवैध शराब पीने से मरने वालों की संख्या रविवार को बढ़कर 11 हो गई। घटना शुक्रवार की है, जब पटना के मेहंदीगंज क्षेत्र में अवैध शराब पीने से कई लोग बीमार हो गए थे।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ''पटना के मेहंदीगंज क्षेत्र में शुक्रवार को अवैध शराब पीने के कारण अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।''

शुरुआत में प्रशासन ने इससे इंकार किया था कि मौतें अवैध शराब के कारण हुई हैं। उन्होंने इसकी वजह ठंड बताई थी।

बिरहार के सड़क निर्माण मंत्री कुमार ने घटना के पीछे षडय़ंत्र का जिक्र करते हुए मामले को बहुत तूल नहीं दिया। यहां तक कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करने से इंकार कर दिया था।

पटना के वरिष्ठ पुलिस उपाधीक्षक अमृत राज ने हालांकि कहा कि घटना के बाद मेहंदीगंज पुलिस स्टेशन के प्रमुख सुजय विद्यार्थी को निलम्बित कर दिया गया। अवैध शराब बनाने वालों और इसका कारोबार करने वालों के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस ने कहा कि इस मामले में कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

कार्यकर्ता महेंद्र यादव ने हालांकि आरोप लगाया कि पुलिस के अधिकारी अवैध शराब बनाने वालों से मिले हुए हैं। अवैध शराब की 50 दुकानें हैं और पुलिस को इनके बारे में मालूम है।

उन्होंने कहा, ''यहां तक कि आबकारी विभाग ने भी पटना तथा इसके आसपास अवैध शराब की बिक्री पर कार्रवाई नहीं किया। लेकिन सरकार बढ़ा-चढ़ाकर कहती रही कि वह शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई कर रही है।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार: जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 11 हुई