Image Loading
मंगलवार, 24 मई, 2016 | 17:23 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • असम में बीजेपी के 6 और असम गण परिषद के 2 और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के 2 मंत्रियों ने...
  • शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी ने कहा, सर्बानंद करेंगे असम का पूर्ण विकास
  • सात राज्य नीट के लिए तैयार, दिल्ली की अभी सहमति नही: जे पी नड्डा
  • सात राज्य नीट के लिए तैयार, दिल्ली की अभी सहमति नही: जे पी नड्डा
  • सर्बानंद सोनोवाल ने असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • असम में सर्बानंद सोनोवाल का शपथ ग्रहण समारोह: पीएम मोदी भी पहुंचे
  • असम के मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में अमित शाह समेत कई बड़े नेता पहुंचे
  • नजफगढ़ में विमान दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ, विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई
  • एक क्लिक में जानें, अब तक की पांच बडी़ खबरें
  • लखनऊ, चंडीगढ़, फरीदाबाद, अगरतला समेत 13 नए शहर स्मार्ट सिटी के लिए चुने गए
  • राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने NEET अध्यादेश पर किए हस्ताक्षर
  • इसी सप्ताह आएगा 10वीं का परीक्षा परिणामः सीबीएसई
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 10 अंक फिसलकर 25,220 पर खुला, निफ़्टी 7731
  • दिल्ली: खराब मौसम के कारण करीब 24 उड़ानें डाइवर्ट हुईं और 12 देर से पहुंचीं
  • ब्रेड में मिले जानलेवा कैमिकल, कैंसर का खतरा
  • बिहार- एमएलसी मनोरमा देवी की जमानत याचिका पर सुनवाई, कोर्ट ने मांगी केस डायरी
  • दिल्ली: नरेला स्थित प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी भीषण आग

'बड़े नामों और दबाव से नहीं डरता भुवनेश्वर'

नयी दिल्ली, एजेंसी First Published:27-12-2012 04:28:27 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
'बड़े नामों और दबाव से नहीं डरता भुवनेश्वर'

पाकिस्तान के खिलाफ पहले टी20 क्रिकेट मैच में तीन विकेट चटकाकर शानदार पदार्पण करने वाले तेज गेंदबाज भुवनेश्वर सिंह के कोच ने इसका श्रेय उसकी बरसों की मेहनत और लगन को दिया। उन्होंने कहा कि वह बल्लेबाज की ख्याति और दबाव के हालात से डरता नहीं है।
    
भुवनेश्वर ने चार ओवर में नौ रन देकर तीन विकेट लिये थे। इनमें नासिर जमशेद, अहमद शहजाद और उमर अकमल के विकेट शामिल थे।
   
मेरठ के रहने वाले 22 वर्षीय भुवनेश्वर को क्रिकेट का ककहरा सिखाने वाले कोच संजय रस्तोगी ने कहा कि भुवनेश्वर 13 साल की उम्र में जब मेरठ कॉलेज के ग्राउंड पर खेलने आया, तभी हमने उसकी प्रतिभा को पहचान लिया था। उसमें गेंद को इनस्विंग और आउटस्विंग कराने की नैसर्गिक क्षमता थी और कड़ी मेहनत से उसने इसे निखारा।
    
उन्होंने कहा कि अंडर 15 क्रिकेट में पदार्पण करते हुए उसने पांच विकेट चटकाये थे। वह दबाव से डरता नहीं है और यही उसकी सबसे बड़ी खूबी है। उन्होंने बताया कि पहले टी20 मैच के बाद भुवनेश्वर ने मैच नहीं जीत पाने पर दुख जताया था। उन्होंने हालांकि उसे शुक्रवार को होने वाले दूसरे मैच में भी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की सलाह दी।
    
रस्तोगी ने कहा कि मैंने उसे इतना ही कहा कि अगले मैच पर पूरा फोकस करे। पिछली हार को भुलाकर नये सिरे से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कोशिश करे। मुझे यकीन है कि वह इस लय को कायम रखेगा।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
सितंबर में अमेरिका में खेला जा सकता है मिनी आईपीएलसितंबर में अमेरिका में खेला जा सकता है मिनी आईपीएल
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) टी-20 लीग की अपार सफलता को अब देश के बाहर भी भुनाने पर विचार कर रहा है और हो सकता है इसी साल सितंबर में विदेश में 'मिनी आईपीएल' कराने की है।