Image Loading
बुधवार, 28 सितम्बर, 2016 | 05:32 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • भारतीय टीम में गौतम गंभीर की वापसी, कोलकाता टेस्ट के लिए टीम में शामिल
  • इस्लामाबाद में होने वाले सार्क सम्मलेन में भाग नहीं लेंगे पीएम मोदी: MEA
  • पंजाब-हिमाचल सीमा पर संदिग्ध की तलाश, पठानकोट में संदिग्ध की तलाश जारी, पुलिस ने...
  • पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को विदेश मंत्रालय ने किया तलब, उरी हमले के...
  • CBI ने सुप्रीम कोर्ट से बुलंदशहर गैंगरेप केस में कथित बयान को लेकर यूपी के मंत्री...
  • दिल्लीः कॉरपोरेट मंत्रालय के पूर्व डीजी बी के बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी,...
  • मामूली बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 78.74 अंको की तेजी के साथ 28,373 और निफ्टी...
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

मोदी की PM पद की दावेदारी पर भाजपा में मतभेद

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:20-12-2012 12:05:56 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
मोदी की PM पद की दावेदारी पर भाजपा में मतभेद

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जहां राज्य में हैट्रिक लगाने की ओर बढ़ रहे हैं, वहीं उनकी पार्टी भाजपा ने इस बारे में कोई सीधा रुख स्पष्ट नहीं किया कि क्या वह अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे।

भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मोदी भाई हमेशा से भाजपा में एक महत्वपूर्ण नेता रहे हैं। हमारी पार्टी वंशवाद से नहीं चलती जिसमें कोई युवराज नेता हो। हम लोकतांत्रिक तरीके से काम करते हैं।

प्रसाद से सवाल किया गया था कि क्या गुजरात में लगातार तीसरी जीत दिलाने वाले मोदी अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा को इस बात का गर्व है कि उसमें प्रधानमंत्री बनने की क्षमता रखने वाले अनेक नेता हैं। उचित समय पर उम्मीदवार को चुना जाएगा।

प्रसाद ने कहा कि मोदी राज्य में ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपने खिलाफ अनेक अभियानों के खिलाफ लड़ते रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस चुनाव की सबसे खास बात यह है कि देश में जहां जाति के नाम पर इतना विभाजन है वहां एक नेता पूरी जनता की आकांक्षाओं के अनुएप पहचान बनाते हुए विजेता बनकर उभरा है।

प्रसाद ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भाजपा के साथ जटिल रिश्तों के सवाल पर भी सीधा जवाब नहीं दिया। नीतीश हमेशा से राष्ट्रीय स्तर पर मोदी के बढ़ने के खिलाफ रहे हैं। प्रसाद ने कहा कि इस मुद्दे (मोदी और नीतीश के) पर अनेक बार चर्चा हुई है। हमारी (भाजपा और जदयू की) जड़ें बहुत मजबूत हैं और हमने अनेक चुनाव मिलकर लड़े हैं।

इस बारे में अन्य प्रश्नों को उन्होंने केवल अटकल कहकर खारिज कर दिया। प्रसाद ने कहा, हमें मोदी भाई की तीसरी जीत की खुशियां मनानी चाहिए।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड