Image Loading
गुरुवार, 23 मार्च, 2017 | 09:44 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • टॉप 10 न्यूज: लंदन हमले समेत पढ़ें 9 बजे तक देश-दुनिया की बड़ी खबरें
  • हेल्थ टिप्स- घी से बेहतर है बटर, झुर्रियों को करता है दूर
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: पढ़ें, आज के हिन्दुस्तान में इलाहाबाद हाईकोर्ट पूर्व...
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-NCR, रांची, देहरादून और पटना में धूप निकलेगी, लखनऊ में हल्की धुंध...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का हिन्दुस्तान अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफल: मेष राशिवालों के आत्मविश्वास में वृद्धि होगी लेकिन आत्मसंयत रहें।...
  • सक्सेस मंत्र: 'थैंक यू पिताजी यह समझाने के लिए कि हम कितने गरीब हैं'
  • टॉप 10 न्यूज : देश-दुनिया की 10 बड़ी खबरें एक नजर में

खुदरा क्षेत्र में एफडीआई राष्ट्रीय जरूरत: अश्विनी कुमार

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-2012 03:27:10 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

कानून मंत्री अश्विनी कुमार ने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) 'राष्ट्रीय जरूरत' है। यह किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए लाभदायक है।

राज्य सभा में बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई को अनुमति देने के मुद्दे पर जारी बहस में उन्होंने कहा कि बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई को अनुमति देना राष्ट्रीय जरूरत है.. देश की अर्थव्यवस्था का हर क्षेत्र इस नीति से लाभ में रहने वाला है। मंत्री ने कहा कि किसानों ने सरकार के इस कदम को समर्थन दिया है।

उन्होंने कहा, ''पंजाब में भारतीय किसान संघ ने हमारा साथ दिया है। महाराष्ट्र में स्वाभिमान शेतकारी संगठन ने हमें समर्थन दिया है। कोई भी किसान इस नीति के विरोध में सड़क पर नहीं गया है, क्योंकि उन्हें पता है कि आज या कल उन्हें इस नीति का लाभ मिलने ही वाला है।''

उन्होंने कहा कि हर साल 35 से 40 फीसदी फल और सब्जियां बर्बाद हो जाती है, किसानों को हर साल 65 हजार करोड़ रुपये तक का नुकसान होता है, क्योंकि आधारभूत संरचना और शीत भंडार सुविधा का अभाव है। उन्होंने कहा कि खुदरा क्षेत्र में एफडीआई आने पर उसका एक बड़ा हिस्सा इन अवसंरचनाओं पर खर्च होगा।

उन्होंने कहा, ''एक समय आता है, जब देश को अपने हित में कोई फैसला लेना होता है। हमें दलगत राजनीति से ऊपर उठना होगा। यह नीति देश का भविष्य तय करेगी।''

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड