Image Loading वैज्ञानिकों ने रिकॉर्ड किया शक्तिशाली क्वेजार धमाका - LiveHindustan.com
बुधवार, 04 मई, 2016 | 22:54 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • पठानकोट आतंकी हमले में मारे गए चार आतंकवादियों के शव चार महीने बाद दफनाए गए।
  • आईपीएल 9: केकेआर ने किंग्स इलेवन पंजाब के सामने 165 रन का लक्ष्य रखा
  • वीडियो में देखें कैसे पकड़ा गया 6 फीट का अजगर..
  • आईपीएल 9: किंग्स इलेवन पंजाब ने केकेआर के खिलाफ टॉस जीता, पहले फील्डिंग का फैसला
  • हेलीकॉप्टर घोटाले में जांच उन लोगों की भूमिका पर केन्द्रित होगी जिनका नाम इटली...
  • भारत द्वारा खरीदे गए हेलीकाप्टर का परीक्षण नहीं हुआ था क्योंकि वह उस समय विकास...
  • जॉब अलर्ट: SBI करेगा प्रोबेशनरी ऑफिसर के 2200 पदों पर भर्तियां
  • गायत्री परिवार के प्रणव पांड्या राज्यसभा के लिए मनोनीत: टीवी रिपोर्ट्स
  • सेंसेक्स 127.97 अंक गिरकर 25,101.73 पर और निफ्टी 7,706.55 पर बंद
  • टी-20 और वनडे रैंकिंग में टीम इंडिया लुढ़की
  • यूपी के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ सुप्रीम कोर्ट के जज बने। मप्र व...
  • बरेली में मेडिकल के छात्र का अपहरण, बदमाशो ने घर वालो से मांगी 1 करोड़ की फिरौती
  • राज्य सभा की अनुशासन समिति ने विजय माल्या की सदस्यता तत्काल खत्म करने की...
  • उत्तराखंड मामलाः केंद्र ने SC में कहा, बहुमत परीक्षण पर कर रहे विचार, शुक्रवार को...

वैज्ञानिकों ने रिकॉर्ड किया अब तक का सबसे शक्तिशाली क्वेजार धमाका

सेंटियागो, एजेंसी First Published:29-11-2012 10:09:02 AMLast Updated:29-11-2012 10:13:53 AM
वैज्ञानिकों ने रिकॉर्ड किया अब तक का सबसे शक्तिशाली क्वेजार धमाका

अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों ने अब तक के सबसे शक्तिशाली क्वेजार धमाके की पहचान की है। इस धमाके से उन महत्वपूर्ण सिद्धांतों को पहला प्रमाण मिला है, जो बताते हैं कि ब्रह्मांड ने किस तरह आकार ग्रहण किया।
   
क्वेजार ऐसे आकाशीय पिंड हैं जो दिखने में असाधारण रूप से चमकदार तारों की तरह हैं। लेकिन अब अंतरिक्ष यात्रियों का मानना है कि क्वेजार तारे नहीं हैं और वे अपनी शक्ति नयी-नयी बनी हुई आकाशगंगाओं के केंद्र में स्थित ब्लैक होल्स से लेते हैं।
   
दक्षिणी यूरोप में स्थित वेधशाला की चिली में स्थापित विशाल दूरबीन से उर्जा की एक किरण की पहचान की गई। यह अध्ययनों में अब तक देखी गई किसी भी किरण से पांच गुना ज्यादा बड़ी थी।
   
नए विश्लेषण में उर्जा के भारी बहाव की पहचान की गई। यह उर्जा सूर्य की उर्जा से बीस खरब गुना ज्यादा थी। यह उर्जा अब तक ज्ञात क्वेजार एसडीएसएस जे1106प्लस1939 की उर्जा से 400 गुना ज्यादा है।
  
वर्जीनिया तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रमुख शोधकर्ता नाहुम अरव ने कहा, मैं ऐसी किसी चीज की तलाश में पिछले एक दशक से था। पहले कभी पूर्वानुमानित ऐसे भारी प्रवाह देखना वाकई रोमांचकारी है।
  
उन्होंने कहा कि चूंकि क्वाजेर हमसे बहुत दूर हैं इसलिए उनके प्रकाश को सबसे शक्तिशाली दूरबीन तक पहुंचने में भी अरबों साल लग जाते हैं। बहुत दूर स्थित ये क्वाजेर ब्रह्मांड के इतिहास की झलक दिखाते हैं।
  
ब्लैक होल्स में उर्जा की मात्रा होने के कारण क्वाजेर के इर्द गिर्द भी कुछ उर्जा होती है। वे इसे ब्रह्मांड में वापस तेज गति से फेंक देते हैं।
  
अंतरिक्ष विज्ञानी बताते हैं कि उर्जा के ये प्रवाह कुछ बड़ी आकाशगंगाओं के होने को समझने में मदद करते हैं। साथ ही इनसे यह भी समझा जा सकता है कि किसी आकाशगंगा का द्रव्यमान उसके केंद्रीय ब्लैक होल से कैसे जुड़ा रहता है।
  
अरब ने कहा कि पहली बार क्वाजेर से उर्जा के प्रवाह का आकलन किया गया है जो सिद्धांतों में पूर्वानुमानित उच्च उर्जा का एक प्रकार है। क्वाजेर एसडीएसएस जे1106प्लस1939 की खोज तो पहले ही की जा चुकी थी लेकिन पहली बार इससे होने वाले प्रवाह का ठीक आकलन विस्तार से किया गया है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल 9: केकेआर के तीन विकेट पर 164 रनआईपीएल 9: केकेआर के तीन विकेट पर 164 रन
कप्तान गौतम गंभीर (45 गेंदों पर 54 रन) और रोबिन उथप्पा (49 गेंदों पर 70 रन) से मिली एक और शानदार शुरुआत के दम पर कोलकाता नाइटराइडर्स ने आईपीएल नौ के मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ तीन विकेट पर 164 रन बनाए।