Image Loading
मंगलवार, 24 मई, 2016 | 11:34 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • लखनऊ, चंडीगढ़, फरीदाबाद, अगरतला समेत 13 नए शहर स्मार्ट सिटी के लिए चुने गए
  • राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने NEET अध्यादेश पर किए हस्ताक्षर
  • इसी सप्ताह आएगा 10वीं का परीक्षा परिणामः सीबीएसई
  • VIDEO: देखें क्या हुआ जब घुप्प अंधेरे के बीच दिल्ली-NCR में कड़की बिजली
  • शेयर बाजार: सेंसेक्स 10 अंक फिसलकर 25,220 पर खुला, निफ़्टी 7731
  • एक क्लिक में जानें 5 बड़ी खबरें, जिन पर रहेगी नजर
  • दिल्ली: खराब मौसम के कारण करीब 24 उड़ानें डाइवर्ट हुईं और 12 देर से पहुंचीं
  • ब्रेड में मिले जानलेवा कैमिकल, कैंसर का खतरा
  • बिहार- एमएलसी मनोरमा देवी की जमानत याचिका पर सुनवाई, कोर्ट ने मांगी केस डायरी
  • दिल्ली: नरेला स्थित प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी भीषण आग

अमेरिकी सदन में पारित सिखों पर हमले के खिलाफ प्रस्ताव

वाशिंगटन, एजेंसी First Published:14-12-2012 09:32:44 AMLast Updated:14-12-2012 11:32:19 AM
अमेरिकी सदन में पारित सिखों पर हमले के खिलाफ प्रस्ताव

सिखों पर हमलों के खिलाफ एक निन्दा प्रस्ताव अमेरिका के इलिनोइस सदन में पारित कर दिया गया। यह प्रस्ताव मुख्यत: गत अगस्त में विस्कोंसिन गुरुद्वारे में हुई गोलीबारी की घटना से संबंधित था। इस घटना में छह सिख मारे गए थे।

अमेरिका के प्रति अमेरिकी सिख समुदाय की व्यापक प्रतिबद्धता को मान्यता देते हुए इस प्रस्ताव में कहा गया है कि विस्कोंसिन नरसंहार और नस्ली भावना से प्रेरित अन्य हमलों ने सिखों और अन्य समुदायों को चिंतित कर दिया है।

इस प्रस्ताव में घृणा से भरी हिंसा की निन्दा करते हुए प्रवासी एवं अल्पसंख्यक समुदायों की भागीदारी और नागरिकों के बीच मेलजोल को प्रोत्साहन दिया गया है। इसमें आम जनता के बीच सिखों और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के बारे में ज्यादा जागरूकता लाने पर जोर दिया गया है।

यूनाइटेड सिख्स की मध्य पश्चिम क्षेत्र की संयोजक एकता अर्नेजा ने कहा कि यह प्रस्ताव नस्ली भावनाओं से प्रेरित अत्याचारों से जुड़ा है। यह इलिनोइस राज्य की ओर से इलिनोइस के लोगों को अमेरिकी सिखों और दक्षिण एशियाई मूल के अमेरिकियों के बारे में ज्यादा शिक्षित करने की प्रतिबद्धता व्यक्त करता है।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
...तो इसलिए जिम्बाब्वे दौरे के लिए धौनी को नहीं मिला आराम...तो इसलिए जिम्बाब्वे दौरे के लिए धौनी को नहीं मिला आराम
राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष संदीप पाटिल ने सोमवार जिम्बाब्वे और वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीमों की घोषणा के बाद कहा कि कप्तान महेंद्र सिंह धौनी जिम्बाब्वे दौरे पर जाना चाहते थे जबकि टेस्ट कप्तान विराट कोहली को टीम फिजियो की सलाह पर आराम दिया गया है।