Image Loading
गुरुवार, 26 मई, 2016 | 04:14 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने कोलकाता नाइट राइडर्स को 22 रनों से हराया
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 15 ओवर में चार विकेट खोकर 110 रन बनाए
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 10 ओवर में तीन विकेट खोकर 66 रन बनाए
  • आईपीएल 9: केकेआर ने 5 ओवर में एक विकेट खोकर 43 रन बनाए
  • आयोध्या में बजरंग दल ट्रैनिंग कैम्प का आयोजक महेश मिश्रा गिरफ्तार: टीवी...
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर के सामने 163 रन का लक्ष्य रखा
  • आईपीएल 9: हैदराबाद ने 18 ओवर में पांच विकेट खोकर 143 रन बनाए
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने 14 ओवर में तीन विकेट खोकर 98 रन बनाए
  • आईपीएल 9: कुलदीप यादव ने लगातार गेंदों पर सनराइजर्स को दिए दो झटके
  • केरलः दलित छात्रा के साथ बलात्कार और उसकी हत्या की जांच के लिए एडीजीपी बी संध्या...
  • टाटा स्टील की ब्रिटेन इकाई के लिए हमने बोली लगाने वाले किसी का नाम नहीं छांटा है:...
  • आईपीएल 9: सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर के खिलाफ 5 ओवर में एक विकेट पर 31 रन बनाए
  • पटना में डॉक्टर से एक करोड़ की फिरौती की मांग, कंकरबाग पुलिस स्टेशन में मामला...
  • आईपीएल 9: केकेआर ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टॉस जीता, पहले फील्डिंग का फैसला
  • उभरते भारत और चीन को अपने साझा हितों का विस्तार करना चाहिए, जो पूरे विश्व के लिए...
  • बिहार में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिएः लोक जनशक्ति पार्टी
  • लोक जनशक्ति पार्टी ने अपने नेता सुरेश पासवान की हत्या की भर्त्सना की
  • दिल्ली-एनसीआर में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि
  • बिहार: LJP नेता सुदेश पासवान की डुमरिया में हत्या-ANI
  • पी विजयन ने केरल के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • राम जेठमलानी राजद की सीट से जाएंगे राज्य सभाः ANI

फेसबुक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मांगा जवाब

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-11-2012 01:07:50 PMLast Updated:30-11-2012 02:10:06 PM
फेसबुक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मांगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को शुक्रवार को निर्देश दिया कि वह उन परिस्थितियों के बारे में विस्तार से बताए जिसके तहत पुलिस ने ठाणे जिले के पालघर से दो लड़कियों को गिरफ्तार किया था।

दोनों लड़कियों को बाल ठाकरे के अंतिम संस्कार के दिन 18 नवम्बर के मुंबई बंद को लेकर फेसबुक पर टिप्पणी करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। प्रधान न्यायाधीश अल्तमस कबीर और न्यायमूर्ति जे चेलमेश्वर की पीठ ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया जाता है कि उन परिस्थितियों के बारे में विस्तार से बताए जिसके तहत दो लड़कियों शाहीन ढाडा और रीनू श्रीनिवासन को फेसबुक पर टिप्पणी करने के लिए गिरफ्तार किया गया था।

पीठ ने दिल्ली की छात्रा श्रेया सिंघल की जनहित याचिका पर राज्य सरकार से चार हफ्ते के अंदर जवाब दायर करने को कहा। पीठ ने पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी सरकार को भी इसमें पक्ष बनाया है जहां विगत दिनों ऐसी ही घटनाएं हुई थीं।

साथ ही दिल्ली सरकार को भी नोटिस जारी किया और चार हफ्ते के अंदर उनसे जवाब मांगा है। अदालत ने मामले की सुनवाई छह हफ्ते बाद तय की। अदालत ने अटॉर्नी जनरल जीई वाहनवती से भी सहयोग मांगा।

वाहनवती ने कहा कि कृपया सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 की धारा 66ए की जांच करें और इस मुद्दे पर मैं अदालत का सहयोग करूंगा।

अटार्नी जनरल (एजी) ने उन दिशा-निर्देशों का भी जिक्र किया जिसमें कहा गया है कि आईटी अधिनियम के प्रावधानों के तहत दर्ज मामलों पर निर्णय वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को करना है। ग्रामीण इलाकों के मामले पर निर्णय डीजीपी स्तर के अधिकारियों और शहरी इलाकों के मामले पर निर्णय आईजीपी को करना है।

एजी ने कहा कि ऐसा थाना प्रमुखों द्वारा नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि इस मामले पर अदालत को विचार करने की आवश्यकता है। बहरहाल, श्रेया की ओर से वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने अदालत से निर्देश देने का आग्रह किया कि देश भर में ऐसे मामले तब तक दर्ज नहीं किए जाएं जब तक ऐसी शिकायतों पर संबंधित राज्य के डीजीपी गौर न करें और उसे मंजूरी नहीं दें।

सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने कहा कि मुंबई की दो लड़कियों की गिरफ्तारी उचित नहीं है। रोहतगी ने कहा कि आईटी अधिनियम के जिस प्रावधान के तहत गिरफ्तारी की शक्तियां दी जाती हैं वे पूरी तरह असंवैधानिक हैं और उन्हें हटाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि प्रावधान असंवैधानिक हैं। निश्चित तौर पर इस पर सुप्रीम कोर्ट को निर्णय करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों को निर्देश दिया जाना चाहिए कि इस प्रावधान के तहत कोई मामला तब तक दर्ज नहीं किया जाए जब तक कि संबंधित राज्य के डीजीपी की इस पर मंजूरी नहीं मिल जाए। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था राज्य का विषय है और जब तक इस अदालत से कोई आदेश पारित नहीं होता, यह (प्रावधान का दुरुपयोग) नहीं रुक सकता।

रोहतगी ने कहा कि देश में हजारों थाने हैं और इसलिए इस अदालत से आदेश पारित किए जाने की आवश्यकता है। इस पर अदालत ने कहा कि सभी थाने एक जैसे नहीं हैं। इस बीच कुछ और नागरिक अधिकार समूहों और गैर सरकारी संगठनों ने अदालत से कहा कि उन्हें भी इस मुददे पर सुनवाई की जारी प्रक्रिया में हिस्सा लेने की अनुमति दी जाए।

पक्ष बनाने का आग्रह करते हुए प्रशांत भूषण ने कहा कि न केवल एक धारा बल्कि अधिनियम के कई अन्य प्रावधान और नियम असंवैधानिक हैं। रोहतगी ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति को पक्ष बनने की अनुमति दी जाती है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है।

आईटी अधिनियम में संशोधन के लिए जनहित याचिका पर सहमत होते हुए पीठ ने गुरुवार को कहा था कि जिस तरीके से बच्चों को गिरफ्तार किया गया, उससे देश के लोगों की भावनाएं आहत हुईं। जिस तरीके से ये चीजें हुईं उन पर विचार किए जाने की जरूरत है।

याचिकाकर्ता श्रेया ने अपनी याचिका में कहा कि आईटी एक्ट 2000 की धारा 66ए के प्रावधान काफी व्यापक और जटिल हैं और वस्तुनिष्ठ मानकों पर आंके जाने में अक्षम हैं। इससे इसके दुरुपयोग की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

श्रेया ने अपनी याचिका में मुंबई की दो लड़कियों की गिरफ्तारी के अलावा पश्चिम बंगाल के जादवपुर विश्वविद्यालय के रसायनशास्त्र के प्रोफेसर अंबिकेश महापात्र की गिरफ्तारी का भी जिक्र किया है जिन्होंने सोशल नेटवर्किंग साइट पर राजनीतिक कार्टून पोस्ट किया था।

उसने पुडुचेरी पुलिस द्वारा इस वर्ष अक्टूबर में रवि श्रीनिवासन की गिरफ्तारी का भी जिक्र किया है जिन्होंने टि्वटर पर तमिलनाडु के एक नेता के खिलाफ आरोप लगाए थे। इसमें इस वर्ष मई में एयर इंडिया के कर्मचारियों वी जगन्नाथ राव और मयंक शर्मा की मुंबई पुलिस द्वारा गिरफ्तारी का भी जिक्र किया गया है।

 

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Uttrakhand Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
हैदराबाद ने कोलकाता को किया एलिमिनेटहैदराबाद ने कोलकाता को किया एलिमिनेट
सनराइजर्स हैदराबाद ने दो बार के पूर्व चैंपियन कोलकाता नाइटराइडर्स को बुधवार को यहां फिरोजशाह कोटला मैदान में 22 रन से हराकर आईपीएल-9 से एलिमिनेट कर दिया।