Image Loading
मंगलवार, 26 जुलाई, 2016 | 23:28 | IST
खोजें
ब्रेकिंग
  • मायावती के खिलाफ अपशब्द कहने वाले दयाशंकर सिंह तीन दिन पहले आए थे देवघर
  • महर्षि बाल्मिकी पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर राखी सावंत को लुधियाना कोर्ट का...
  • BCCI की स्पेशल जनरल मीटिंग 5 अगस्त को मुंबई में होगी: ANI
  • बाल श्रम (निषेध एवं नियमन ) संशोधन विधेयक 2016 लोकसभा में पारित
  • जर्मनी: बर्लिन के एक अस्पताल में गोलियां चलीं
  • फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा, चर्च में हुए हमले के पीछे आतंकी...
  • वीडियो विवाद पर बोले भगवंत मान, पीएम मोदी के खिलाफ भी जांच हो
  • दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के खिलाफ बुराड़ी रेप पीड़िता की...
  • दिल्ली के पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार को 1 लाख के निजी मुचलके पर जमानत मिली:...
  • इरोम चानू शर्मिला 9 अगस्त को खत्म करेंगी 16 साल से चला आ रहा अनशन, मणिपुर विधानसभा...
  • दयाशंकर सिंह ने गिरफ्तारी पर रोक के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की
  • BREAKING: फ्रांस में एक चर्च में 2 हथियारबंद घुसे, 4-6 लोगों को बंधक बनाया
  • सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए नोटिफिकेशन जारी, केंद्रीय...

यह नटखट नहीं जहरीला बंदर है...

मनीला, एजेंसी First Published:16-12-2012 10:54:27 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
यह नटखट नहीं जहरीला बंदर है...

बंदरों को शैतान, चंचल, नटखट और नकलची तो कहा ही जाता है, लेकिन अब उनके जहरीले होने का भी पता चला है। वैज्ञानिकों ने फिलीपींस और बोर्नियो द्वीप के जंगलों में भोली-भाले शक्ल वाले इस निशाचर और जहरीले बंदर को ढूंढ़ निकाला है।

ऑक्सफोर्ड ब्रुक्स यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर अन्ना नेकारिस के नेतृत्व में जंतु वैज्ञानिकों के एक दल ने इस बंदर को खोज निकाला है। उन्होंने बताया कि यह बंदर एक नई प्रजाति निसे टिसेबस कायन से संबद्ध है और दक्षिण पूर्वी एशिया में पाए जाने वाले स्लो लॉरिस का एक प्रकार है। यह एक विलुप्तप्राय प्रजाति है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक इस प्रजाति को अब तक ढूंढ़ा नहीं जा सका तथा इसके पीछे मुख्य कारण इसका निशाचर होना है। देखने में यह अफ्रीका में पाए जाने वाले बुश बेबीज की तरह लगता है। हांलाकि यह उतना भोला नहीं है जितना इसकी शक्ल देख कर लगता है।

इसकी कुहनी में एक ग्रंथि होती है जिसमें बहुत ही घातक जहर भरा होता है। वार करते समय इस ग्रंथि से जहर को मुंह में ले आता है और फिर उसे लार में मिलाकर अपने शिकार को काट लेता है। इसका जहर इतना घातक होता है कि इससे इंसान की मौत भी हो सकती है।

दरअसल यह जहर धीरे-धीरे शरीर के विभिन्न अंगों को निष्क्रिय कर देता है जिसकी वजह से उसकी मौत हो जाती है। प्रोफेसर नेकारिस बताती हैं कि पिछले कुछ सालों से स्लो लोरिस को पालतू बनाने का चलन जोर पकड़ गया है जिससे इसका अस्तित्व संकट में पड़ गया है। कुछ लोग इसके दांत निकाल कर इसे पालते हैं ताकि यह अपने मालिक को काट न सकें।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें
क्रिकेट
कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी और जिवा का SUPER CUTE VIDEOकैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी और जिवा का SUPER CUTE VIDEO
टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी इन दिनों क्रिकेट से मिले ब्रेक का जमकर लुत्फ उठा रहे हैं। अपनी बेटी जिवा के साथ धौनी ने एक क्यूट सा वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है।