class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी के नीच सम्बन्धी बयानों को लेकर बरसीं मायावती

मोदी के नीच सम्बन्धी बयानों को लेकर बरसीं मायावती

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी द्वारा नीचतापूर्ण राजनीति सम्बन्धी टिप्पणी पर भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी के पलटवार की निन्दा करते हुए मंगलवार को कहा कि मोदी इस मुद्दे की आड़ में घिनौनी राजनीति कर रहे हैं।

मायावती ने देर शाम संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कांग्रेस ने मोदी पर नीची राजनीति करने का आरोप लगाया। मोदी इस मुद्दे को आज दिन भर उत्तर प्रदेश में अपनी सभाओं में भुनाते रहे। मोदी इस मुद्दे की आड़ में घिनौनी राजनीति करते रहे। बसपा इसकी निन्दा करती है।

उन्होंने कहा कांग्रेस नेताओं इसका जवाब तुरन्त ही दे देना चाहिये था लेकिन सम्भवत: उन्होंने यह सोचकर इसका जवाब अभी तक नहीं दिया कि वह तो उत्तर प्रदेश में खत्म हो ही रहे हैं। अगर मोदी हमारे इस बयान की आड़ में यहां खासकर बसपा को नुकसान पहुंचाता है तो यह भी हमारे लिये अच्छा ही होगा। यही बात सोचकर सपा भी कुछ नहीं बोल रही है।

खासकर दलितों और पिछड़ों की राजनीति करने वाली मायावती ने कहा कि वह मोदी से कहना चाहती हैं कि नीची राजनीति करने का मतलब किसी जाति विशेष से नहीं होता है। इसका अर्थ घटिया किस्म की राजनीति करने से होता है। मोदी ने अपने राजनीतिक फायदे के लिये इसको जबरदस्ती नीची जाति से जोड़कर इसकी आड़ में पिछड़ा कार्ड खेलने की कोशिश की है।

गौरतलब है कि प्रियंका ने कल अपने पिता राजीव गांधी पर सियासी हमला किये जाने के बाद मोदी को जवाब देते हुए कहा था कि वह नीचता की राजनीति पर उतर आये हैं। इस पर मोदी ने आज प्रदेश में अपनी जनसभाओं में इसकी निन्दा करते हुए कहा था कि वह नीच जाति में जरूर पैदा हुए हैं लेकिन उनकी राजनीति नीच नहीं है।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि अगर मोदी वाकई पिछड़े वर्ग से ताल्लुक रखते हैं तो फिर उनको अपनी जाति बताने में संकोच क्यों हो रहा है। इससे जाहिर होता है कि यह व्यक्ति शायद पिछड़े वर्ग का नहीं है। अगर इस व्यक्ति को थोड़ी देर के लिये पिछड़े वर्ग का मान भी लिया जाए तो मैं उसकी पार्टी से यह जरूर पूछना चाहती हूं कि उसने छह साल तक केन्द्र में अपनी सरकार के कार्यकाल में पिछड़े वर्ग के हितों के लिये क्या किया।

उन्होंने कहा मुझे तो यह मालूम है कि भाजपा दलितों की तरह पिछड़े वर्ग के भी खिलाफ है। इसके ताजा सुबूत के तौर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबा रामदेव यादव का प्रकरण आपके सामने है। रामदेव ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए जिस तरह पूरे देश की दलित महिलाओं का अपमान किया है उसकी बसपा ने निन्दा की। दुख इस बात की है कि एक तरफ तो मोदी कहते हैं कि दलितों के हिमायती है, तो रामदेव की टिप्पणी पर उन्होंने आलोचना या खण्डन क्यों नहीं किया।

मायावती ने कहा भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस के भी हाईकमान ने रामदेव के बयान की निन्दा नहीं की। इससे स्पष्ट है कि ये लोग पिछड़ों का नाम लेकर राजनीति खेल रहे हैं। दलित इनके बहकावे में कतई नहीं आएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी के नीच सम्बन्धी बयानों को लेकर बरसीं मायावती