Image Loading
रविवार, 04 दिसम्बर, 2016 | 03:20 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • 13000 करोड़ की सम्पति का खुलासा करने वाले गुजरात के कारोबारी महेश शाह को हिरासत में...
  • HT समिट: नोटबंदी पर पीएम मोदी ने जितनी हिम्मत दिखाई उतनी हिम्मत शराबबंदी में भी...

भारत और पाकिस्तान में होगी श्रेष्ठता की जंग

बेंगलूर, एजेंसी First Published:24-12-2012 08:32:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
भारत और पाकिस्तान में होगी श्रेष्ठता की जंग

विश्व क्रिकेट की दो महाशक्तियां भारत और पाकिस्तान की टीमें मंगलवार को जब पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में उतरेंगी तो पांच साल के लंबे अंतराल के बाद दोनों के बीच मैदान में एक बार फिर वही पुरानी प्रतिद्वंद्विता देखने को मिलेगी जिसे देखने के लिए हर क्रिकेट प्रेमी बेकरार है।

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट से संन्यास की खबरें रविवार को पूरे दिन सुर्खियों में रही, जिसके कारण भारत-पाक सीरीज के लिए अभी तक माहौल नहीं बन पाया। दोनों टीमों के बीच वर्ष 2007 के बाद यह पहली द्विपक्षीय सीरीज है। भारत और पाकिस्तान ने टी20 विश्वकप का खिताब जीता है और दोनों को ही इस फटाफट प्रारूप में माहिर माना जाता है।

भारत को हाल में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था, जबकि टी20 सीरीज भी 1-1 से बराबरी पर छूटी। टीम इंडिया के लिए उसकी गेंदबाजी सबसे बड़ी चिंता है। टीम में अधिकांश तेज गेंदबाज चोटों से जूझ रहे हैं और यही वजह है कि उसके पास सीमित विकल्प हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ मध्यम तेज गेंदबाजों अशोक डिंडा और परविंदर अवाना ने खासकर दूसरे मैच में जमकर रन लुटाए थे, लेकिन उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ टीम में बरकरार रखा गया है। टीम के सबसे अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी इंग्लैंड के खिलाफ अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे। लेफ्ट आर्म स्पिनर युवराज सिंह ने हालांकि दोनों मैचों में अच्छी गेंदबाजी की।

कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने भी इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई में खेले गए दूसरे टी20 मैच में टीम की कमजोर गेंदबाजी पर चिंता जताई थी, लेकिन साथ ही उन्होंने युवा तेज गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा था कि वे अभी अनुभवहीन हैं और उन्हें प्रोत्साहन देने की जरूरत है।

जहां तक बल्लेबाजी का सवाल है तो इंग्लैंड के खिलाफ इस विभाग में भारत का प्रदर्शन कोई खास अच्छा नहीं था। दोनों मैचों में भारत को कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक तक नहीं पहुंच पाया। युवराज ने पहले मैच में अच्छी बल्लेबाजी की, जबकि विराट कोहली, धौनी और सुरेश रैना ने दूसरे मैच में उपयोगी पारियां खेलीं। कुल मिलाकर भारतीय बल्लेबाज अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे।

गौतम गंभीर और आजिंक्य रहाणे पर एक बार फिर टीम को अच्छी शुरुआत देने की जिम्मेदारी रहेगी। गंभीर पिछले दोनों मैचों में अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए थे। इसके बाद विराट, युवराज, रोहित, धौनी और रैना पर टीम के स्कोर को आगे ले जाने की जिम्मेदारी होगी।

इस मैच के लिए भारत के अंतिम एकादश में कुछ बदलाव किए जाने की उम्मीद है। तेज गेंदबाजी विभाग में अनुभवी ईशांत शर्मा को लाया जा सकता है। ऐसे में डिंडा या अवाना में से किसी एक को बाहर बैठना पड़ सकता है। हालांकि अवाना पर गाज गिरने की ज्यादा संभावना है।

इसके अलावा लेग स्पिनर पीयूष चावला के स्थान पर ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा की अंतिम एकादश में वापसी तय है। पीयूष इग्लैंड के खिलाफ फ्लॉप साबित हुए थे। जडेजा गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी में भी कमाल दिखा सकते हैं।

टीमें:
भारत: महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), गौतम गंभीर, आजिंक्य रहाणे, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, विराट कोहली, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, अशोक डिंडा, ईशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, परविंदर अवाना, पीयूष चावला, अंबाती रायुडू।

पाकिस्तान: मोहम्मद हफीज (कप्तान), अहमद शहजाद, असद अली, जुनैद खान, कामरान अकमल, मोहम्मद इरफान, नासिर जमशेद, सईद अजमल, शाहिद अफरीदी, शोएब मलिक, सोहेल तनवीर, उमर अकमल, उमर अमीन, उमर गुल, जुल्फिकार बाबर।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड