Image Loading सेवा क्षेत्र की वृद्धि 13 महीने के न्यूनतम स्तर पर - LiveHindustan.com
मंगलवार, 03 मई, 2016 | 14:14 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • सचिन तेंदुलकर ने भी रियो ओलंपिक के लिए गुडविड ब्रैंड एंबेसडर बनने के प्रस्ताव...
  • डीजल टैक्सियों पर रोक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची केजरीवाल सरकारः एजेंसी
  • NGT ने जंगलों में भीषण आग के लिए उत्तराखंड और हिमाचल सरकार को कारण बताओ नोटिस जारी...

भारतीय सेवा क्षेत्र की वृद्धि नवंबर में 13 महीने के न्यूनतम स्तर पर: HSBC

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-12-2012 02:01:41 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
भारतीय सेवा क्षेत्र की वृद्धि नवंबर में 13 महीने के न्यूनतम स्तर पर: HSBC

कारोबारी गतिविधियों में गिरावट की वजह से देश में सेवा क्षेत्र की वृद्धि दर इस बार नवंबर में गिरकर 13 महीने के न्यूनतम स्तर पर आ गई। एचएसबीसी सर्वे में यह बात दिखी है।
     
एचएसबीसी का सर्विस पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) अक्टूबर के 53.8 के मुकाबले नवंबर के दौरान घटकर 52.1 रह गया जो कि पिछले 13 महीने का न्यूनतम स्तर है।
     
सितंबर में सात महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच जाने के बाद पिछले दो महीने से सूचकांक में गिरावट आ रही है। हालांकि यह अभी भी 50 अंक से उपर है।
     
भारत और आसियान के लिए एचएसबीसी के मुख्य अर्थशास्त्री लीफ एसकेसीन ने कहा कि नवंबर के दौरान कारोबारी गतिविधियों और नये कारोबार में धीमी वृद्धि दर्ज की गई, ऐसा दीपावली छुट्टी की वजह से भी हो सकता है।
      
हालांकि सेवा प्रदाता लघुकालिक आर्थिक परिदृश्य को लेकर आशान्वित हैं और उन्हें आने वाले वर्ष में गतिविधियों में सुधार की उम्मीद है। एसकेसीन ने कहा कि सर्वे में शामिल कुछ लोगों द्वारा कारोबार में विस्तार करने की बात कही। इससे कारोबारी उम्मीद सूचकांक में अहम सुधार हुआ है।
     
इससे पहले एचएसबीसी सर्वे में कहा गया कि नवंबर के दौरान देश में विनिर्माण क्षेत्र में सुधार हुआ।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
IPL-9: सबके छक्के छुड़ाएगा राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का IPL-9: सबके छक्के छुड़ाएगा राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का 'नया' बल्लेबाज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 9वें सीजन में नई टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का सफर मुश्किलों से भरा रहा है। पहला मैच जीतने के बाद से टीम को लगातार चार हार झेलनी पड़ी, टीम के बड़े खिलाड़ी एक के बाद एक करके चोटिल होते गए।