class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एफडीआई के खिलाफ प्रस्ताव, विभिन्न दलों के संपर्क में सरकार

एफडीआई के खिलाफ प्रस्ताव, विभिन्न दलों के संपर्क में सरकार

बहुब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) पर लोकसभा में बहस के बाद मतदान के बारे में बसपा और सपा ने जहां चुप्पी साध रखी है, वहीं सरकार ने आज कहा कि वह समर्थन के लिए विभिन्न दलों से संपर्क बनाए हुए है।
   
संसदीय राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा हम सभी दलों से संपर्क बनाए हुए हैं। हमने उनसे समर्थन का अनुरोध किया है। एफडीआई से किसानों और छोटे व्यापारियों के हितों पर कुठाराघात नहीं होगा, बल्कि इससे उन्हें मदद ही मिलेगी।
   
बहुब्रांड खुदरा क्षेत्र में 51 फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति देने के सरकार के फैसले के विरोध में विपक्ष द्वारा पेश प्रस्ताव पर लोकसभा में बहस चल रही है और फिर मतदान होगा।
   
कल बहस के दौरान सपा और बसपा दोनों ने ही एफडीआई का विरोध किया लेकिन उन्होंने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि क्या वह प्रस्ताव का समर्थन करेंगी।
   
भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने यह कहते हुए दोनों दलों से प्रस्ताव का समर्थन करने की अपील की कि उनकी यह आशंका निर्मूल है कि सरकार गिर जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:FDI के खिलाफ प्रस्ताव, विभिन्न दलों के संपर्क में सरकार