Image Loading सोनिया और राहुल गांधी से मिले प्रदर्शनकारी - LiveHindustan.com
गुरुवार, 11 फरवरी, 2016 | 16:06 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • जाबांज हनुमनथप्पा का पार्थिव शरीर बरार स्क्वायर ले जाया गया
  • हनुमनथप्पा का ब्लड प्रेशर सुबह काफी कम हो गया था: आर आर अस्पताल
  • SBI का एकीकृत मुनाफा तीसरी तिमाही में 67 प्रतिशत घटकर 1,259 करोड़ रुपए रहा, पिछले साल...

सोनिया और राहुल गांधी से मिले प्रदर्शनकारी

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:23-12-2012 03:13:53 PMLast Updated:23-12-2012 04:04:40 PM
सोनिया और राहुल गांधी से मिले प्रदर्शनकारी

दिल्ली में 23 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे युवाओं के एक समूह ने रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव राहुल गांधी से मुलाकात की और उन्हें त्वरित कार्रवाई का आश्वासन भी मिला, हालांकि इसके लिए कोई समयसीमा नहीं बताई गयी।

करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद प्रदर्शनकारियों ने कहा कि प्रदर्शन रुकेंगे नहीं, लेकिन उन्होंने शांति की भी अपील की। प्रदर्शनकारियों ने पहचान जाहिर नहीं होने का अनुरोध किया है। उन्होंने सोनिया के आवास 10 जनपथ पर दोनों से मुलाकात की जहां गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह और कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी भी थीं।

एक प्रदर्शनकारी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हमने सोनिया और राहुल से मुलाकात की। उन्होंने हमारी बात सुनी और हमसे कहा कि सरकार को कानून में संशोधन जैसी सभी मांगों को पूरा करने के लिए समय चाहिए। एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा कि राहुल ने उनसे संशोधन लाने की बात कही, लेकिन सोनिया की तरह यह भी कहा कि वक्त की जरूरत है और सारे बदलाव बहुत कम समय में नहीं किये जा सकते।

आरपीएन सिंह ने भी संवाददाताओं से बातचीत की। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधियों ने महिलाओं के खिलाफ अपराधों से लड़ने के लिए 12-13 सुझाव दिये। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान उन्हें आश्वासन दिया गया कि फास्ट ट्रैक अदालतों में मामले की सुनवाई होगी। हालांकि सिंह ने अपराधियों को दंडित करने के लिए कोई समयसीमा नहीं बताई।

सिंह ने कहा कि हम कोई समयसीमा नहीं दे सकते क्योंकि केवल न्यायाधीश ही फैसला कर सकते हैं, लेकिन हम नियमित आधार पर सुनवाई के लिए कहेंगे और दिल्ली पुलिस त्वरित न्याय के लिए अदालतों को सहयोग देगी। उन्होंने कहा कि हमने प्रदर्शनकारियों से अपील की है। मांगें पूरी की जा रही हैं।

नई दिल्ली में धारा 144 लागू करने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने इस कदम का बचाव करते हुए कहा कि शनिवार को कुछ अप्रिय चीजें घटीं। कई युवा जख्मी हो गये। हम ऐसा नहीं होने देना चाहते। इससे युवाओं को बचाने के लिए हमने यह कदम उठाने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि 99.99 प्रतिशत प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण प्रदर्शन चाहते हैं, लेकिन 0.1 प्रतिशत लोग हैं जो कुछ और चाहते हैं।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
कैसा रहा साल 2015
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड