Image Loading असांज के फेफड़े में है असाध्य संक्रमण - LiveHindustan.com
गुरुवार, 05 मई, 2016 | 19:46 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के छठे और अंतिम चरण में 84.24 प्रतिशत मतदान: निर्वाचन...
  • यूपी बोर्ड का हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट 15 मई को आएगा।
  • अन्नाद्रमुक ने स्कूटर मोपेड खरीदने के लिए महिलाओं को 50 प्रतिशत सब्सिडी देने,...
  • अन्नाद्रमुक ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में सब के लिए 100...
  • तमिलनाडुः अन्नाद्रमुक ने सभी राशन कार्ड धारकों को मुफ्त मोबाइल फोन देने का...
  • मध्यप्रदेश: सिंहस्थ कुंभ में तेज बारिश और आंधी से गिरे पांडाल, 4 की मौत
  • अगस्ता वेस्टलैंड मामला: पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के तीनों करीबी...
  • सेंसेक्स 160.48 अंक की बढ़त के साथ 25,262.21 और निफ्टी 28.95 अंक चढ़कर 7,735.50 पर बंद
  • वाईस एडमिरल सुनील लांबा होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, 31 मई को संभालेंगे पद
  • यूपी सरकार ने केंद्र सरकार से बुंदेलखंड के लिए पानी के टैंकर मांगें-टीवी...
  • स्टिंग ऑपरेशन: हरीश रावत को सीबीआई ने सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया: टीवी...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

असांज के फेफड़े में है असाध्य संक्रमण

लंदन, एजेंसी First Published:29-11-2012 06:46:36 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
असांज के फेफड़े में है असाध्य संक्रमण

ब्रिटेन में क्वीटो के राजदूत ने जानकारी दी है कि पिछले पांच महीने से लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास में रह रहे विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के फेफड़े में असाध्य संक्रमण है जो और खराब हो सकता है।

असांज के बारे में एना अल्बान ने कहा कि उन्हें फेफड़े में असाध्य संक्रमण है जो किसी भी समय बिगड़ सकता है। असांज अपने स्वीडन प्रत्यर्पण से बचने के लिए इक्वाडोर के दूतावास में शरण लिए हुए हैं।

स्वीडन में उनके खिलाफ बलात्कार और यौन शोषण का मुकदमा चलना है। राष्ट्रपति राफेल कोरेआ के साथ शीर्ष अधिकारियों की बैठक से पहले एना ने राजधानी क्वीटो में कहा कि जैसा की सभी जानते हैं असांज एक बंद जगह में घिरे हुए हैं।

बीबीसी ने एना के हवाले से कहा है कि दूतावास में ना सिर्फ गिनती की खिड़कियां हैं बल्कि इस समय शहर में भी लगभग अंधेरा पसरा हुआ है। इस मौसम में लंदन में सूरज की रोशनी भी बहुत कम देर के लिए मिलती है। उन्हें सूर्य की रोशनी और ताजी हवा की कमी के कारण स्वास्थ्य संबंध समस्याएं आ रही हैं।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट